यूपी के इस सरकारी कार्यालय परिसर में हो रही थी अफीम की खेती, जब खुला राज तो…, देखें वीडियो

यूपी के इस सरकारी कार्यालय परिसर में हो रही थी अफीम की खेती, जब खुला राज तो…, देखें वीडियो

Rahul Chauhan | Publish: Apr, 17 2019 04:09:40 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 04:09:41 PM (IST) Saharanpur, Saharanpur, Uttar Pradesh, India

  • जब मीडिया ने इसकी कवरेज की तो अधिकारियों में हड़कंप मच गया
  • बताया जा रहा है कि ये अफीम की खेती पुराने एसडीएम के पति के कहने पर की गई थी

देवबन्द। उपजिलाधिकारी कार्यालय परिसर में उस समय अफरा तफरी मच गई जब मीडिया का कैमरा उस बगीचे की ओर चला गया जहां अफीम की खेती हो रही थी। इतना ही नहीं कर्मचारियों के आवास के बाहर भी अफीम की खेती हो रही थी। वहीं जब मीडिया ने इसकी कवरेज की तो अधिकारियों में हड़कंप मच गया और उन्होंने आनन-फानन में अफीम की खेती को नष्ट करवाया।

यह भी पढ़ें : लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में होने वाले मतदान की तैयारी पूरी, कड़ी सुरक्षा में होगा मतदान, देखें वीडियो

बताया जा रहा है कि ये अफीम की खेती पुराने एसडीएम के पति के कहने पर की गई थी। जहाँ एक ओर अफीम की खेती करना कानूनी अपराध है वहीं दूसरी ओर सरकारी कार्यालय परिसर में ही अवैध अफीम की खेती होना बड़े हैरत की बात है।

 

अफीम की खेती का परिसर में होने का खुलासा होने के बाद हडकम्प मचने के चलते माली ने अफीम के पौधों को उखाड़ दिया। वहीं जब उससे इस खेती के बारे में पूछा गया तो उसने बताया कि पहले वाली जो एसडीएम थीं, उनके पति ने ही ये पौधे ला कर दिए थे और उनका ट्रांसफर हो गया है।

यह भी पढ़ें : दो दिन से व्यापारी लापता, पुलिस तलाश में जुटी, घरवाले परेशान

अफीम की खेती की खबर से जिले के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं जब मीडिया कर्मियों ने इस संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से बात की तो उन्होंने कुछ भी कहने से साफ इंकार कर दिया। वहीं जब इस बाबत सहारनपुर जिलाधिकारी से बात करनी चाही तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned