अभियान सम्मान: बुजुर्ग की सजगता से अबोध बालिका घर लौटी

धारकुंडी पुलिस ने किया रियल हीरो का सम्मान

By: Dhirendra Gupta

Published: 14 Jan 2021, 11:11 PM IST

सतना. महिलाओं की सुरक्षा एवं महिला संबंधी अपराधों की रोकथाम के लिए शुरू किए गए अभियान 'सम्मानÓ के तहत गुरुवार को जिले के कई थाना क्षेत्रों में आयोजन किए गए। इसी क्रम में धारकुण्डी थाना पुलिस ने मासूम बच्ची को उसके घर सकुशल पहुंचाने वाले एक बुजुर्ग को रियल हीरो बताते हुए सम्मान किया। जबकि अन्य क्षेत्रों मेंवाहन चालकां को महिलाओं की सुरक्षा और उनके प्रति होने वाले अपराधों के लिए सजग किया।
बताया गया है कि थाना धारकुंडी क्षेत्र के सरभंगा आश्रम में मकर संक्रांति के पर्व पर भारी संख्या में श्रद्धालु स्नान करने पहुंचे थे। मेला में एक 2 साल की बच्ची गुम हो गई थी। जिसे एक बुजुर्ग रामलाल पुत्र दीन सिंह (70) निवासी बांधी ने रोते-बिलखते देखकर अपने पास देखरेख में रखा और मेला ड्यूटी के लिए आए धारकुंडी पुलिस स्टाफ को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने बच्ची के घरवालों को ढूंढकर उसके परिजनों के सुपुर्द किया। साथ ही तथा बच्ची को सुरक्षित रखने वाले रिल हीरो रामलाल सिंह को शाल-श्रीफल देकर उनका सम्मान किया।
टैक्सी चालकों को समझाया
सिटी कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अर्चना द्विवेदी ने रेलवे स्टेशन पहुंचकर यहां मौजूद ऑटो व टैक्सी चालकों को सम्मान अभियान के बारे में बताया। महिलाओं के प्रति संवेदनशील रहने और उनके खिलाफ होने वाले अपराधों के प्रति सभी को सजग करते हुए इस अभियान मं भगीदार बनने की अपील की।
ट्रक चालकों ने सम्मान समझा
मनकहरी चौकी प्रभारी ओशो गुप्ता ने सहयोगी बल की मदद से मनकहरी इलाके में ट्रक व अन्य वाहन चालकों को एकजुट किया और सभी को सम्मान के बारे में समझाया। महिलाओं के प्रति हो रहे अपराध में कमीं लाने और महिलाओं का समाज में सम्मान बढ़ाने के लिए लोगों को प्रेरित किया गया। साथ ही अपील की गई कि मौजूद सभी लोग अपने परिचितों को इस बारे में जागरूक करें।

Dhirendra Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned