scriptSatna has 51st position at ayushman bharat scheme in MP | देश के इस जिले में 50 फीसदी गरीबों को तक नहीं मिला 'आयुष्मान' का 'आशीर्वाद' | Patrika News

देश के इस जिले में 50 फीसदी गरीबों को तक नहीं मिला 'आयुष्मान' का 'आशीर्वाद'

- कार्ड बनाने में फिसड्डी : सतना में 15 लाख लोगों के बनाए जाने हैं कार्ड, अभी 7 लाख से ज्यादा लोग छूटे

- MP में नीचे से दूसरे यानी 51वें पायदान पर सतना

सतना

Published: June 25, 2022 12:31:52 pm

सतना । Satna

गरीबों को बेहतर और गुणवत्तापूर्ण इलाज कराने केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना को लागू करने में सतना जिला हॉफ रहा है। हकीकत यह है कि योजना का लाभ दिलाना तो दूर जिलेभर में 49.62 पात्र गरीबों के पास आयुष्मान कार्ड ही नहीं है, जबकि कार्ड बनाने के लिए अभियान चला रहा है। आयुष्मान कार्ड बनाने के मामले में सतना जिला नीचे से दूसरे यानी 51वें पायदान पर है। रीवा स्वास्थ्य संभाग के अन्य जिले आयुष्मान कार्ड बनाने के मामले में हमसे बेहतर स्थिति में है।

ayushman_bharat_scheme.png

50.58 फीसदी गरीबों के ही कार्ड बन पाए
केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2018 से शुरू इस योजना को लागू करने के तमाम प्रयासों के बावजूद सतना जिले में 15 लाख 5 हजार 972 लक्ष्य के मुकाबले महज 7 लाख 58 हजार 684 लोगों के ही आयुष्मान कार्ड बन पाए हैं।

यानी 50.58 फीसदी गरीबों के ही कार्ड बन पाए हैं, 49.62 फीसदी गरीबों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिलना तो दूर कार्ड ही नहीं बन पाया है। कार्ड बनवाने आने वाले हितग्राहियों को केंद्रों से दस्तावेजों की कमियां बताकर टला जा रहा है।

झाबुआ, मण्डला, डिण्डौरी से भी फिसड्डी सतना
आयुष्मान कार्ड बनाने के मामले में प्रदेश के पिछड़े झाबुआ, मण्डला, डिण्डौरी, पन्ना जैसे जिले हमशे बेहतर स्थिति में है। जिलेवार जारी की गई रैकिंग में ये जिले हमसे ऊंचे पायदान पर बने हुए हैं।

रीवा 41, सीधी 45 और सिंगरौली-45वें पायदान पर
रीवा स्वास्थ्य संभाग की भी आयुष्मान कार्ड बनाने को लेकर स्थिति सतना से बेहतर लेकिन अच्छी नहीं है। रीवा 41, सीधी 45 और सिंगरौली-45वें पायदान पर है। रीवा स्वास्थ्य संभाग के अनूपपुर 43, उमरिया 34वें पायदान पर हैं। वहीं नजदीकी जिला पन्ना 49वें पायदान पर है।

अभियान में दो हजार कार्ड भी नहीं बने
जिलेभर में विकासखण्ड और जिला मुख्यालय स्तर पर स्वास्थ्य मेले लगाए गए। इस दौरान एक सप्ताह से भी अधिक समय तक आयुष्मान कार्ड बनाने अभियान चलाया गया। लेकिन इस दौरान जिलेभर में दो हजार लोगों के भी कार्ड नहीं बनाए जा सके।

प्रचार-प्रसार का अभाव
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, इस योजना में कैंसर समेत 1450 बीमारियों का कैशलेस इलाज की व्यवस्था है। हितग्राहियों के नहीं आने से आयुष्मान कार्ड जारी नहीं हो पा रहे हैं। इसकी वजह लोगों को योजना की जानकारी नहीं होना और केंद्र पर पहुंचने के बाद भी भटकाया जाना है। जिला अस्पताल में बनाए गए केंद्र के भी कमोवेश यही हालात हैं।

1 साल में 5 लाख का निशुल्क इलाज
केंद्र सरकार की ओर से वर्ष 2018 के दौरान समाज के गरीब तबके के लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया था। वर्ष 2011 की जनगणना के आधार पर गरीबी की रेखा से नीचे के परिवारों को आयुष्मान भारत योजना में शामिल करने को चिह्नित किया गया था। इसके अंतर्गत लाभार्थी को 1 साल में 5 लाख रुपए तक का नि:शुल्क इलाज कराने की सुविधा दी गई है।

प्रदेश के टॉप-10 जिले-
जिला-जारी कार्ड प्रतिशत में
1. इंदौर-86.73
2. शाजापुर-72.24
3.नरसिंहपुर-70.96
4.जबलपुर-69.76
5.भोपाल-69.28
6.ग्वालियर-68.28
7.गुना-67.96
8.डिण्डौरी-67.33
9.मंदसौर-66.39
10.रतलाम-66.22

बॉटम वाले जिले-
45. सीधी-52.44
46.श्योपुर-52.34
47. सिंगरौली-51.95
48.झाबुआ-50.90
49. पन्ना-50.79
50. बड़वानी-50.53
51.सतना-50.38
52. अलीराजपुर-45.90

पिछड़े जिलों में अभियान चलाकर बनाए जाएंगे कार्ड
देशभर में आयुष्मान कार्ड बनाने में मध्यप्रदेश नंबर वन है। कुछ जिले जो पीछे हैं, इनको विशेष अभियान में शामिल कर चुनाव आचार संहिता के बाद कैंप मोड में सभी के कार्ड बनाए जाएंगे। इसके लिए विशेष दल गठित किए जाएंगे। जो अर्जेंट हैं वो अभी भी लोकसेवा केंद्र में कार्ड बनवा सकते हैं।
- अनुराग चौधरी, सीइओ, आयुष्मान भारत, मध्यप्रदेश

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोपदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहरकश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या का बदला हुआ पूरा, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिरायासुनील बंसल बने बंगाल बीजेपी के नए चीफ, कैलाश विजयवर्गीय की हुई छुट्टीसुप्रीम कोर्ट से नूपुर शर्मा को बड़ी राहत, सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर करने के निर्देशBihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.