script पटवारी की हत्या का मामला शांत होते ही फिर शरू हुआ रेत का अवैध कारोबार | As soon as the case of Patwari's murder was settled, illegal sand busi | Patrika News

पटवारी की हत्या का मामला शांत होते ही फिर शरू हुआ रेत का अवैध कारोबार

locationशाहडोलPublished: Dec 28, 2023 12:08:45 pm

Submitted by:

shubham singh

नदियों में हैवी वाहन उतारकर करे रहे रेत का उत्खनन

पटवारी की हत्या का मामला शांत होते ही फिर शरू हुआ रेत का अवैध कारोबार
पटवारी की हत्या का मामला शांत होते ही फिर शरू हुआ रेत का अवैध कारोबार

शहडोल. जिले में बेखौफ माफिया रेत का अवैध खनन करा रहे हैं। देवलोंद में पटवारी की हत्या का मामला शांत होते ही अब खनन कारोबारियों को हरी झण्डी मिल गई है। शहर से 15 से 20 किमी की दूरी में बेखौफ अवैध खनन चल रहा है लेकिन अधिकारियों को भनक नहीं है। शहर से सटे बुढ़ार थाना क्षेत्र के लालपुर, नवलपुर और बटली में खनन माफिया बड़े वाहनों से रेत निकाल रहे हैं। इसी तरह जिला मुख्यालय से 10 किमी की दूरी में नरवार, कुअरसेजा, पटासी और कुनुक नदी से अवैध रूप से रेत निकाली जा रही हैं। रात के समय यहां पर अवैध खनन चलता है और दिनभर बड़े वाहनों के माध्यम से रेत का परिवहन कराया जाता है। बुढ़ार में तो एक स्थानीय अधिकारी के संरक्षण में खनन चल रहा है। बताया जा रहा है अधिकारियों ने प्रतिमाह के हिसाब से वाहनों का रेट तय कर रखा है। टेंडर प्रक्रिया पूरी न होने की वजह से खनन माफिया धड़ल्ले से अवैध तरीके से रेत निकालकर महंगे दामों में खपा रहे हैं। इधर, ब्यौहारी और देवलोंद में फिर खनन शुरू हो गया है। कई नदियों से रेत बड़े स्तर पर निकालकर उप्र भेज रहे हैं।
कार्रवाई के पहले भनक
बटली, लालपुर, नवलपुर और नरवार में ये स्थिति है कि कार्रवाई से पहले ही खनन कारोबारियों को भनक लग जाती है।
संगठित गिरोह कर रहा काम
खनन कारोबारियों ने ऐसा सिस्टम बना रखा है कि पहले अवैध तरीके से परिवहन करते हैं, गाड़ी पकड़ी जाती है तो तुरंत टीपी भी कट जाती है। अवैध खनन के लिए शहडोल में पूरी तरह से एक संगठित गिरोह काम कर रहा है। बकायदा बड़ी गाडिय़ां लगाई गई हैं। इन गाडिय़ों में नंबर नहीं रहता है और बेखौफ शहर के भीतर से गाडिय़ां रेत लोड करके निकलते हैं। इतना ही नहीं, कार्रवाई होते ही इन गाडिय़ों की टीपी भी कट जाती है।
अधिकारियों के साथ हुई बैठक, कलेक्टर ने कहा- बिना नंबर की गाडिय़ों पर रखें नजर
कलेक्टर कार्यालय के विराट सभागार में अवैध रेत उत्खनन रोकने संबंधी बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले रेत भण्डारण जैसे खेतों व अन्य जगहों पर रखी गई अवैध रेत की जांच-पड़ताल कर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि अवैध रेत उत्खनन रोकने के लिए बनाए गए चेक पोस्टों पर सीसीटीवी कैमरा लगवाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि रेत के अवैध उत्खनन को रोकने के लिए गंभीरतापूर्वक एवं समन्वय के साथ कार्रवाई करें व बिना नम्बर की गाडिय़ों पर निगरानी रखें। कलेक्टर ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी समय-समय पर रेत के अवैध उत्खनन स्थल का भ्रमण करे और सायरन वाली गाडिय़ों से फ्लैग मार्च किया जाए। बैठक में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व नरेन्द्र सिंह धुर्वे, ज्योति सिंह परस्ते, जिला खनिज अधिकारी देवेंद्र पटेल, अधीक्षक सोन घडियाल अभ्यारण्य निकुंज पाण्डेय मौजूद रहे।

ट्रेंडिंग वीडियो