समाज निर्माण में महिलाओं की अहम भूमिका

महिला दिवस के उपलक्ष्य पर विवि में कार्यक्रम का आयोजन...

By: shivmangal singh

Published: 13 Mar 2018, 09:37 AM IST

शहडोल. महिला दिवस के उपलक्ष्य में सोमवार को पं. एस एन शुक्ला विश्वविद्यालय में छात्र संघ द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पं. शंभूलाथ शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलपति डा. मुकेश तिवारी रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया। कार्यक्रम की अगली कड़ी में विश्वविद्यालय की छात्र-छात्राओं द्वारा मंचासीन अतिथियों का स्वागत किया गया।
इसके उपरांत कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में शिरकत करने आई समाज सेवी एकता तिवारी ने भारतीय संस्कृति के परिदृश्य में महिलाओं की भूमिका विषय पर अपनी बात रखी। वहीं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे डा. मुकेश तिवारी ने अपने उद्बोधन में महिलाओं का समाज में महत्व व वर्तमान परिदृश्य से छात्रों को अवगत कराया।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से नीलमणि दुबे, छात्र संघ बीएसडब्ल्यू प्रभारी प्रो. करुणेश झा, प्रो. शिव कुमार दुबे, प्रो. मनीषा सिंह, प्रो. बिनीता अग्रवाल, ओमजी मिश्रा प्रो. संगीता मसीह, छात्र संघ अध्यक्ष कशिश खान, उपाध्यक्ष अतुल तिवारी के साथ अन्य छात्र-छात्राएं मौजूद रही।

............................................

अर्थशास्त्र की परीक्षा में शामिल हुए 2682 छात्र
शहडोल. जिले के 41 परीक्षा केन्द्रो में सोमवार को हायर सेकेण्ड्री की अर्थशास्त्र की परीक्षा शांति पूर्वक संपन्न हुई। परीक्षा के दौरान कहीं भी किसी भी प्रकार की अव्यवस्था की स्थिति निर्मित नही हुई और न ही कोई नकल प्रकरण बने। परीक्षा के दौरान चाक चौबंद व्यवस्था रखी गई थी जिससे कि कहीं किसी भी प्रकार की अव्यवस्था की स्थिति निर्मित न हो। सोमवार को आयोजित अर्थशास्त्र की परीक्षा में कुल २७८५ छात्र दर्ज थे। जिसमें से परीक्षा में 2682 छात्र उपस्थित रहे। जिले में बनाए गए 41 में कुल 103 छात्र अनुपस्थित रहे।

 

....................................................
अनूप जलोटा की पुस्तक में नत्थू लाल के गीत
शहडोल . भजन गायक अनूप जलोटा पर लिखी गई पुस्तक मेरी कहानी मेरी जुवानी में शहडोल के नत्थूलाल गुप्ता के गीत प्रकाशित हुए हैं। इस पुस्तक में अनूप जलोटा के जीवन के अहम पहलुओं को चित्रित करने का प्रयास किया गया है। जिसमें नत्थूलाल का गीत भी समाहित किया गया है। बलपुरवा शहडोल निवासी नत्थूलाल गुप्ता ने बताया कि उन्हे शुरु से ही गीत लिखने का शौक था। इस शौक को पूरा करने के लिए उन्होने 1990 से गीत लिखना प्रारंभ किया। जिसमें से उन्हे भजन लिखना पसंद है। उन्होने बताया कि उनके नटराज कैसेट्स बरही से दो एल्बम भी निकल चुके है। साथ ही उनके लिखे कई भजनो को अनूप जलोटा ने गाया है।

 

 

 

 

 

 

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned