जन्मदिवस से पूर्व मायावती पर स्वामी प्रसाद मौर्य का हमला

Bhanu Pratap

Publish: Jan, 14 2018 11:02:07 PM (IST) | Updated: Jan, 15 2018 10:16:36 AM (IST)

Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India

यूपी के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव को भी निशाने पर लिया। उन्हें राजनीति सिखाने की भी बात कही।

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या रविवार की शाम शाहजहाँपुर पहुंचे। उन्होंने उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन से ठीक पहले बड़ा हमला किया है। साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा। स्वामी प्रसाद ने कहा कि अखिलेश यादव के पास कोई मुद्दा बचा नहीं है। आलू की राजनीति से दूर रहें और जनता की परेशानियों को लेकर राजनीति करें। साथ ही उन्होंने अखिलेश यादव को सलाह दी है कि अखिलेश यादव उनके मोबाइल नंबर पर फोन करें, तो वे बताएंगे कि कैसे राजनीति होती है। साथ ही उन्होंने मायावती पर हमला बोलते हुए कहा कि वो भ्रष्टाचार की देवी हैं। उन्हें पैसे की हवस है। मायावती जन्मदिवस 15 जनवरी को मनाया जा रहा है।

मायावती भ्रष्टाचार की देवी

कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने मायावती पर हमला बोलते हुए कहा कि मायावती ने कांशीराम के सपनों को शर्मसार किया है। उन्होंने अमीरों की तिजोरी में बैठकर राजनीति की है। मायावती भ्रष्टाचार की देवी है। इस लायक भी नहीं बची हैं कि विधान परिषद या राज्यसभा में पहुंच सकें। 2012 के बाद वोटों को नीलाम करना शुरू किया। शाहजहां पहुंचने पर स्वामी प्रसाद मौर्य के समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया। जिन्दाबाद के नारे लगते रहे। यह देख स्वामी प्रसाद मौर्य काफी प्रसन्न नजर आए।

 

अखिलेश यादव को सलाह

कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव पढ़े लिखे मुख्यमंत्री थे। इंजीनियर भी हैं, तो आलू की राजनीति नहीं करनी चाहिए। सपा ने ही अपने जानवर रोड पर छोड़ रखे थे। वही जानवर किसानों की फसलें बर्बाद कर रहे थे। अब हम उन्हीं जानवरों को पकड़वाने का काम करेंगे तब साफ हो जाएगा कि जानवर किसके हैं। आप लोग देखिएगा कि सपा नेता ही अपने अपने जानवरों को छुड़ाने आएंगे। कैबिनेट मंत्री ने अखिलेश यादव को सलाह दी कि वे उनके मोबाइल नंबर पर फोन करें तो बताएंगे कि कैसे राजनीति कैसे होती है।

 

Ad Block is Banned