script यूथ में फिर इंजीनियरिंग का क्रेज: जेईई-मेन में पिछले साल के मुकाबले 27 प्रतिशत ज्यादा आवेदन | Engineering craze again among youth | Patrika News

यूथ में फिर इंजीनियरिंग का क्रेज: जेईई-मेन में पिछले साल के मुकाबले 27 प्रतिशत ज्यादा आवेदन

locationसीकरPublished: Feb 07, 2024 01:11:53 pm

Submitted by:

Ajay Sharma

जेईई-मेन 2024 के अप्रेल-सेशन की आवेदन प्रक्रिया शुरू

एनटीए ने जारी किए आंकड़े...
एनटीए ने जारी किए आंकड़े...

यूथ में कॅरियर चयन को लेकर फिर बदलाव आया है। इंजीनियरिंग के क्षेत्र में लगातार बढ़ते ऑप्शन के बाद अब युवाओं ने फिर इंजीनियरिंग में नई राहें तलाशना शुरू कर दिया है। पिछले कुछ वर्षों में इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं में शामिल होने वाले विद्यार्थियों की संख्या ठहर सी गई थी। लेकिन इस साल देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के आंकड़े देखें तो इसमें काफी उछाल आया है। एनटी के आंकड़ों के अनुसार पिछले साल की तुलना में 27 प्रतिशत से अधिक बढ़ोत्तरी हुई है। जेईई-मेन परीक्षा आयोजक संस्था नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष जेईई-मेन पहले सेशन के लिए 12 लाख 31 हजार 874 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया था। इसमें बीई-बीटेक के लिए 12 लाख 21 हजार 615 एवं बीआर्क के लिए 74 हजार विद्यार्थी पंजीकृत थे। बीई-बीटेक के लिए पंजीकृत 12 लाख 21 हजार 615 विद्यार्थियों में से 11 लाख 70 हजार 36 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए। परीक्षा में उपस्थिति 95 प्रतिशत से अधिक रही।
जेईई-मेन के पहले सेशन में बीई-बीटेक में पिछले वर्षों में पंजीयन कराने वाले विद्यार्थियों की संख्या पर नजर डालें तो वर्ष 2022 में 8 लाख 72 हजार 432, वहीं 2023 में 8 लाख 60 हजार 64 एवं 2024 में 12 लाख 21 हजार 615 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है। ऐसे में पिछले साल के मुकाबले इस साल पंजीकृत विद्यार्थियों की संख्या एक चौथाई से ज्यादा बढ़ी है। इस साल बीआर्क एवं बीई-बीटेक के लिए पंजीकृत 12 लाख 31 हजार 874 विद्यार्थियों में 8 लाख 24 हजार 945 लड़के एवं 4 लाख 6 हजार 920 लड़कियां शामिल थी। इसमें कुल पंजीकृत विद्यार्थियों में सामान्य श्रेणी के 4 लाख 16 हजार 86, ईडब्ल्यूएस के 1 लाख 54 हजार 840, ओबीसी के 4 लाख 98 हजार 169, एससी के 1 लाख 21 हजार 394, एसटी के 41 हजार 375 शामिल रहे।

जेईई-मेन: अप्रेल सेशन की आवेदन प्रक्रिया शुरू
जेईई-मेन जनवरी की 6 दिन में हुई 11 शिफ्टों की परीक्षा समाप्त होने के बाद अब जेईई-मेन सेशन-2 की आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। यह परीक्षा 1 से 15 अप्रैल के मध्य होगी। आवेदन की अंतिम तिथि 2 मार्च तक है। अप्रेल आवेदन में तीन तरह के लाखों विद्यार्थी शामिल हो सकेंगे, जिसमें वे विद्यार्थी जो पूर्व में जनवरी एवं अप्रैल दोनों सेशन के लिए आवेदन कर चुके हैं। दूसरे वे विद्यार्थी जिन्होंने पूर्व में केवल जनवरी सेशन के लिए ही आवेदन किया और अब अप्रेल सेशन के लिए भी आवेदन करना चाहते हैं। तीसरे ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने अभी तक जनवरी सेशन के लिए आवेदन नहीं किया है और अप्रेल सेशन के लिए आवेदन करना चाहते हैं, वे आवेदन करेंगे।

कैसे कर सकेंगे पुराने आवेदन में करेक्शन
पूर्व में जेईई-मेन जनवरी परीक्षा के लिए 12 लाख 31 हजार से अधिक विद्यार्थी आवेदन कर चुके हैं। ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने दोनों सेशन के लिए आवेदन किया हुआ है एवं जिन्होंने केवल पूर्व में जनवरी सेशन के लिए ही आवेदन किया है, वे अपने जनवरी के एप्लीकेशन नं. एवं बनाए गए पासवर्ड से आवेदन कर सकते हैं। दोनों सेशन के लिए आवेदन कर चुके विद्यार्थी परीक्षा के माध्यम, कोर्स, स्टेट ऑफ इलेजिब्लिटी, परीक्षा केन्द्र, 10वीं व 12वीं की डिटेल में करेक्शन कर सकते हैं। साथ ही केवल जनवरी सेशन के लिए एप्लाई करने वाले विद्यार्थी अप्रैल सेशन के लिए कोर्स, परीक्षा का माध्यम, स्टेट ऑफ इलेजिब्लिटी, परीक्षा केन्द्र, 10वीं, 12वीं की डिटेल भरकर आवश्यक परीक्षा शुल्क का भुगतान कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त पहली बार आवेदन करने वाले विद्यार्थियों को सम्पूर्ण आवेदन प्रक्रिया से गुजरना होगा। विद्यार्थियों को सलाह दी जाती है कि आवेदन करने के उपरान्त जमा किए गए परीक्षा शुल्क भुगतान को अंतिम तिथि निकलने से पूर्व अवश्य जांच लें। जनवरी के लिए आवेदन कर चुके विद्यार्थियों के पास आवेदन में करेक्शन का यह आखिरी मौका है। अप्रेल की परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले यूनीक विद्यार्थी बड़ी संख्या में इस प्रक्रिया में शामिल होंगे।

बेहतर प्लेंसमेंट की वजह से क्रेज बढ़ा
एनटीए की ओर से जारी आंकड़ाें से स्पष्ट है कि इंजीनियरिंग के प्रति यूथ में क्रेज बढ़ा है। इंजीनियरिंग में क्रेज बढ़ने के पीछे मुख्य वजह है बेहतर पैकेज और प्लेंसमेंट। आज यदि दुनिया की नामी कंपनियों की बात करें तो उनमें ज्यादातर सीईओ इंजीनियर क्षेत्र से है। ऐसे में अभिभावकों के साथ विद्यार्थियों की सोच में भी बदलाव आया है। भविष्य में इस क्षेत्र में कॅरियर की संभावना निश्चित तौर पर और बढ़ेगी।
कपिल ढाका, एक्सपर्ट, सीकर

कई सालों से इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों का आंकड़ा थमा हुआ था। जेईई-मेन के अप्रेल सेशन की आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है। आगामी समय में विद्यार्थियों में इंजीनियरिंग के प्रति क्रेज और बढ़ने की संभावना है।
अमित आहूजा, कॅरियर काउंसलिंग एक्सपर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो