राजस्थान में अब इन कक्षाओं के विद्यार्थी भी होंगे प्रमोट, शिक्षकों से संवाद करेंगे शिक्षा मंत्री

(Students of classes 6 and 7 will be upgraded to the next class) कोरोना की दूसरी लहर के बीच राज्य सरकार के कक्षा 6 व 7 के विद्यार्थियों को भी अगली कक्षा में प्रोन्नत करने का फैसला लिया है।

By: Sachin

Updated: 12 Apr 2021, 05:46 PM IST

सीकर. कोरोना की दूसरी लहर के बीच राज्य सरकार के कक्षा 6 व 7 के विद्यार्थियों को भी अगली कक्षा में प्रोन्नत करने का फैसला लिया है। इन कक्षाओं के विद्यार्थियों केा भी अब परीक्षा नहीं देनी होगी। 15 अप्रेल से वह बिना कोई परीक्षा दिए ही अगली कक्षा के योग्य मान लिए जाएंगे। फैसले की जानकारी शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Rajasthan Education Minister Govind Singh Dotasara) ने ट्वीट कर दी है। शिक्षा निदेशालय ने भी इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।


स्माइल प्रोजेक्ट के आधार पर आकलन
शिक्षा विभाग के आदेश के अनुसार कक्षा 6 व 7 के विद्यार्थियों की प्रोन्नति विभाग के स्माइल प्रोजेक्ट के आधार पर होगी। जिसमें स्माइल, स्माइल 2 व आओ घर से सीखे कार्यक्रम के आकलन के आधार पर इन दोनों कक्षाओं के विद्यार्थियों को अंक देकर आगे की कक्षा में शामिल किया जाएगा।

छह मई से बोर्ड की परीक्षाएं, बाकी कक्षाओं का असमंजस
राज्य सरकार कक्षा एक से पांच तक के विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने का फैसला पहले ही ले चुकी है। अब कक्षा छह व सात के विद्यार्थियों को भी बिना परीक्षा प्रोन्नत करने के फैसले के बाद अब कक्षा 8 से 12 तक की ही परीक्षाएं होगी। इनमें से 6 मई से शुरू होने जा रही बोर्ड परीक्षाओं के लिए तो राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने टाइम टेबल भी जारी कर दिया है। वहीं, 9 व 11 की परीक्षाओं को लेकर असमंजस अब भी बना हुआ है।

निजी स्कूलों को लेकर फिर गफलत
शिक्षा विभाग के आदेश से निजी स्कूलों में कक्षा 6 व 7 की परीक्षा को लेेकर फिर गफलत पैदा हो गई है। क्योंकि जिस स्माइल व आओ घर से सीखे कार्यक्रम से आकलन कर विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रोन्नत करने के आदेश शिक्षा विभाग ने जारी किए हैं, वह निजी स्कूलों में नहीं चलते। ऐसे में निजी शिक्षण संस्थानों व अभिभावकों की मांग है कि विभाग को इस संबंध में भी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।


शिक्षक संगठनों से संवाद करेंगे मंत्री
इधर, शिक्षक संगठनों की गिरदावरी करने के राज्य सरकार के फैसले के बाद शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा व शिक्षक संगठनों के संवाद का कार्यक्रम भ्ीा तय हो गया है। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के अनुसार यह बैठक 16 अप्रेल को माध्यमिक शिक्षा निदेशालय तथा 22 अप्रेल को शिक्षा संकुल के मंथन सभागार में सुबह 11 बजे होगी। जिसमें किसी भी शिक्षक संगठन के अध्यक्ष व महामंत्री शामिल हो सकते हैं। अध्यक्ष व महामंत्री की अनुपस्थिति में संगठन की ओर से अन्य नाम निर्देशित पदाधिकारी भी शामिल हो सकते हैं। जिन्हें अपने संगठन के पूरे विवरण के साथ पहुंचना होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned