ब्रह्माकुमारीज संस्थान की प्रमुख राजयोगिनी दादी जानकी का देहावसान

राजस्थान के सिरोही जिले के माउंट आबू में स्थित आध्यात्मिक संगठन ब्रह्माकुमारीज संस्थान की मुख्य प्रशासिका एवं स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड एम्बेसडर राजयोगिनी दादी जानकी का निधन हो गया।

माउंट आबू। राजस्थान के सिरोही जिले के माउंट आबू में स्थित आध्यात्मिक संगठन ब्रह्माकुमारीज संस्थान की मुख्य प्रशासिका एवं स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड एम्बेसडर राजयोगिनी दादी जानकी का निधन हो गया। वे 104 वर्ष की थी। उन्होंने गुरुवार देर रात करीब दो बजे माउण्ट आबू के ग्लोबल अस्पताल में अंतिम सांस ली।

राजयोगिनी दादी जानकी दुनिया की एकमात्र महिला थी, जिन्हें मोस्ट स्टेबल माइंड इन वर्ल्ड का खिताब प्राप्त था। स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड अम्बेसडर डॉ दादी जानकी का अंतिम संस्कार अपराह्न 3.30 बजे ब्रह्माकुमारीज संस्थान के शांतिवन में होगा।

दुनिया की दादी के नाम से मशहूर राजयोगिनी दादी जानकी का जन्म 1 जनवरी, 1916 को हैदराबाद सिंध (जो अभी पाकिस्तन में है) में हुआ था। दादी जानकी ने 21 वर्ष की उम्र में ही इस आध्यात्मिक पथ को अपना लिया था।

1970 में भारतीय संस्कृति मानवीय मूल्यों और राजयोग का संदेश देने के लिए पश्चिमी देशों का रुख किया था। विश्व के 140 देशों में उन्होंने ब्रह्माकुमारीज केन्द्रों की स्थापना कर लाखों लोगों के अन्दर एक सच्चे मानव के संस्कार का बीज बोया था।

ब्रह्माकुमारीज संस्थान की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी प्रकाशमणि के देहावसान के पश्चात 27 अगस्त 2007 को वह संस्थान की मुख्य प्रशासिका बनीं। उनके सान्निध्य में तकरीबन 46 हजार युवा बहनों ने अपना जीवन ईश्वरीय सेवा में समर्पित किया। वे इन 46 हजार युवा बहनों की अभिभावक थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned