चाणक्य ब्राह्मण महासभा की सीएम योगी से मांग, स्वामी प्रसाद मौर्य को हटाया जाए

 चाणक्य ब्राह्मण महासभा की सीएम योगी से मांग, स्वामी प्रसाद मौर्य को हटाया जाए
sitapur

Nitin Srivastva | Updated: 12 Jul 2017, 09:17:00 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सीतापुर में चाणक्य ब्राह्मण महासभा ने रायबरेली में हुए नरसंहार की निंदा की और सीएम योगी आदित्यनाथ से स्वामी प्रसाद मौर्य को हटाने की मांग की।

सीतापुर. सीतापुर जनपद के महोली कस्बे में ब्राह्मण संगठन ने योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के रायबरेली नरनरसंहार मामले पर दिए गए बेतुके बयान को लेकर कड़ा एतराज जताया है और सीएम योगी से कार्रवाई की मांग की है। ब्राम्हण संगठन ने इसको लेकर विरोध प्रदर्शन भी किया।


देखें वीडियो:





स्वामी प्रसाद मौर्य की किरकिरी

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही रायबरेली में पांच लोगों की हत्या कर दी गयी थी, जिसमें सभी लोग ब्राह्मण समुदाय के थे। जिसको लेकर हमेशा की तरह हत्या पर सियासतदानों ने सियासत शुरू कर दी और योगी सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की तरफ से इस मामले पर बेहद हैरान कर देने वाला एक बयान आया। जिसमे उन्होंने सपा सरकार में मंत्री रहे मनोज पांडेय को घटना के पीछे का साजिशकर्ता बताया और सभी मौत के घाट उतारे गए लोगों को अपराधी बताया था। जिसके बाद से ही मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की हर तरफ किरकिरी हो रही है और खुद योगी सरकार ने उनके इस बयान से किनारा कर लिया है।




मांगा स्वामी प्रसाद मौर्य का इस्तीफा

जाहिर है कि इसी मामले को लेकर कई ब्राह्मण संगठन स्वामी प्रसाद मौर्य की बर्खस्तगी की मांग योगी सरकार से कर रहे हैं। इसी क्रम में महोली में चाणक्य ब्राह्मण महासभा ने रायबरेली में हुए नरसंहार की निंदा करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ से स्वामी प्रसाद मौर्य को हटाने की मांग की और उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराने की मांग की। महासभा के अध्यक्ष अनुज मिश्र मोनू ने कहा कि रायबरेली में हुई घटना की जांच सीबीआई से कराई जाए और अपराधियों को संरक्षण देने वाले इस बेलगाम मंत्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पार्टी से बर्खस्त किया जाए। नहीं तो ब्राह्मण समाज सड़क से लेकर संसद तक आंदोलन करेगा। इस अवसर पर संतोष दीक्षित, प्रज्ञाकान्त मिश्र, राम स्वरुप मिश्र, ओपी मिश्र, पिन्टू शुक्ल, सुधीर शुक्ल सहित सैकड़ों ब्राह्मण मौजूद रहे।


Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned