जमीनी विवाद में दो बेटे बने पिता की जान के दुश्मन, धारदार हथियार से उतारा मौत के घाट

जनपद सीतापुर में कलयुगी दो सगे भाइयों ने मिलकर पिता को कुल्हाड़ी और बांके से ताबड़तोड़ प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया।

सीतापुर. जनपद सीतापुर में कलयुगी दो सगे भाइयों ने मिलकर पिता को कुल्हाड़ी और बांके से ताबड़तोड़ प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया। बेटों के इस हमले में जहां पिता की मौत हो गई वही सौतेली मां हमले में गम्भीर रूप से जख्मी हो गई जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस सनसनीखेज घटना को अंजाम देकर दोनों भाई मौके से फरार हो गए। घटना की सूचना पाकर घटनास्थल पर स्थानीय थाना से लेकर कई थानों की पुलिस समेत सीओ बिसवा, एडीश्नल एसपी ने पहुंचकर जांच पड़ताल की और फरार मुल्जिमों की तलाश शुरू कर दी है। इस सनसनीखेज हमले का कारण जमीनी संपति बताया जा रहा है।

दो भाइयों ने पिता को जान से मारा

घटना रेउसा थाना क्षेत्र के बम्भनेवा गांव का है। यहां के निवासी रामसहाय चक्रवर्ती की पत्नी का बहुत दिन पहले निधन हो गया था। मिली जानकारी के मुताबिम,रामसहाय की पहली पत्नी से दो पुत्र संतलाल,सहजराम थे। रामसहाय ने पहली पत्नी की मौत के बाद गांव में ही कल्लू गोस्वामी की पत्नी गीता देवी स्व विवाह कर लिया था। परिजनों के मुताबिक,15 बीघा जमीन मृतक रामसहाय के नाम थी और इसी जमीन को लेकर रामसहाय की लड़को से कुछ अनबन भी हो गई थी। विवाद के बाद मृतक पिता रामसहाय ने दोनों लड़को को जमीन न देने की धौंस देकर पिकप बुलाकर घर का सामान लोड करने लगा। घरेलू सामान को लोड होता देख पिता पुत्रो में जमकर विबाद हो गया और इसी विवाद के दौरान ही मृतक के दोनों पुत्रों के एक साथ मिलकर धारदार हथियारों से ताबड़तोड़ प्रहार कर दिया।

पिता की मौके पर मौत

इस हमले में पिता की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि सौतेली माँ गीता गम्भीर रूप से जख्मी हो गई। पुलिस ने घटनास्थल से कुछ आलाकत्ल औजार बरामद कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं। वहीं जख्मी पत्नी को सीएचसी के भर्ती कराया गया।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned