भारत में पहली बार पुरूष क्रिकेट टीम में खेलेगी महिला खिलाड़ी 

भारत में क्रिकेट में यह पहला मौका होगा जब किसी पुरूष क्रिकेट टीम में एक महिला खिलाड़ी को खेलने का मौका मिलेगा और इस पर भी दिलचस्प बात यह है कि महिला खिलाड़ी को टीम में रखने से उस टीम को मैच में सात अतिरिक्त रन भी मिलेंगे। 

By: satyabrat tripathi

Published: 05 Nov 2015, 09:55 AM IST

मुंबई। भारत में क्रिकेट में यह पहला मौका होगा जब किसी पुरूष क्रिकेट टीम में एक महिला खिलाड़ी को खेलने का मौका मिलेगा और इस पर भी दिलचस्प बात यह है कि महिला खिलाड़ी को टीम में रखने से उस टीम को मैच में सात अतिरिक्त रन भी मिलेंगे। 

यह अभूतपूर्व प्रयोग किया जाएगा राजस्थान में वंडर सीमेंट साथ: 7 क्रिकेट महोत्सव में जिसका उद्घाटन जयपुर में महान क्रिकेटर कपिल देव ने किया था। 

इस टूर्नामेंट को सीमेंट बनाने वाली कंपनी वंडर सीमेंट आयोजित कर रही है। कंपनी के निदेशक विवेक पाटनी ने इस अवसर पर कहा कि साथ: 7 क्रिकेट महोत्सव का आयोजन सबको जोड़ने के लिए किया जा रहा है और यह महोत्सव राजस्थान के हर गांव के लोगों को जोड़ेगा। 

उन्होंने कहा कि वंडर सीमेंट क्रिकट महोत्सव साथ:7 में होने वाले क्रिकेट टूर्नामेंट में सात ओवर का मैच होगा और हर टीम में सात खिलाड़ी भाग लेंगे जिस भी टीम में महिला खिलाडी शामिल होगी उस टीम को मैच में सात रन अतिरिक्त मिलेंगे। 

उन्होंने कहा कि क्रिकेट महोत्सव 19 दिसंबर से शुरू होगा और 10 जनवरी 2016 तक चलेगा। उन्होंने कहा कि इस टूर्नामेंट हर तहसील के लोग भाग ले सकते हैं बशर्ते खेलने वाले की उम्र 15 वर्ष होनी चाहिए। 

पाटनी ने कहा कि इस टूर्नामेंट में राजस्थान के सभी जोन, जिलों, तहसीलों और गांव स्तर के लोग हिस्सा ले सकेंगे। राजस्थान के 349 तहसील के लगभग 4000 खिलाड़यिों को क्रिकेट महोत्सव ने आकर्षित किया है। पाटनी ने कहा कि टूर्नामेंट के विजेता और उपविजेता को क्रमश:350000 और 140000 रूपये ईनाम के तौर पर दिये जायेंगे। 

टूर्नामेंट के पहले संस्करण में विजेताओं को दी जाने वाली कुल राशि 30 लाख रूपये होगी। पाटनी ने कहा कि राजस्थान में यदि हमें इस खेल में सफलता मिलती है तो हम इसे अन्य राज्यों में भी शुरू करेंगे। 

कपिल ने महोत्सव का उद्घान करते हुये उम्मीद जताई कि खेल का यह प्रारूप भी लोगों को पसंद आयेगा। उन्होंने कहा कि इस तरह के खेल के प्रयास से उन लोगों को भी मौका मिलेगा जिनके पास साधन नहीं है इसके अलावा महिला खिलाड़यिों को भी इससे प्रोत्साहन मिलेगा।
satyabrat tripathi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned