scriptsudden change in weather in sriganganagar | श्रीगंगानगर में एकाएक बदला मौसम | Patrika News

श्रीगंगानगर में एकाएक बदला मौसम

sudden change in weather in sriganganagar दोपहर बाद एकाएक मौसम ने ली करवट

श्री गंगानगर

Published: April 20, 2022 02:26:55 pm

श्रीगंगानगर। जिले में अब तक लू और भीषण गर्मी ने बुरा हाल कर रखा था लेकिन बुधवार दोपहर बाद एकाएक मौसम ने करवट ली। तेज हवाओ के साथ साथ तेज अंधड़ आने लगा। हालांकि जिला मुख्यालय पर सूर्य देव के तेवर सुबह से दोपहर तक तीखे बने रहे। लेकिन दोपहर दो बजे के बाद एकाएक मौसम ने करवट ली। इस मौसम के एकाएक मूड बदलने का नुकसान उन परिवारों में होने के आसार है जिनके यहां शादियों का कार्यक्रम है। उधर, खेतों में फसल काटकर अपने घरो की बजाय खेतों में रखने वाले किसानो ने इस मौसम को देखते हुए कृषि जिन्सों को घर जाने की तैयारी कर ली। दुपहरी में बाजार एरिया पर सन्नाटा पसरा रहा है।
श्रीगंगानगर में एकाएक बदला मौसम
श्रीगंगानगर में एकाएक बदला मौसम
इस गर्मी में कई लोगों के उल्टी दस्त की शिकायतें आने लगी है। मौसम में बदलाव को देखते हुए चिकित्सकों ने घर पर आराम करने की सलाह भी दी है। इधर, सीएमएचओ डॉ. गिरधारी लाल मेहरड़ा ने अस्पतालों में कूलर व शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, संस्थान में रोगी के उपचार के लिए आपातकालीन किट में ओआरएस, ड्रिपसेट सहित अन्य आवश्यक दवाइयां रखने के निर्देश दिए हैं।
उन्होंने बताया कि शरीर में लवण व पानी अपर्याप्त होने पर विषम गर्म वातावरण में लू व तापघात से सिर का भारीपन व अत्यधिक सिरदर्द होने लगता है। इसके अलावा अधिक प्यास लगाना, शरीर में भारीपन के साथ थकावट, जी मिचलाना, सिर चकराना व शरीर का तापमान बढऩा, पसीना आना बंद होना, मुंह का लाल हो जाना, त्वचा का सूखा होना, अत्यधिक प्यास का लगना व बेहोशी जैसी स्थिति का होना आदि लक्षण आने लगते हैं। स्वास्थ्य विभाग ने आमजन को सलाह दी है कि लू तापघात से प्रभावित रोगी को तुरंत छायादार जगह पर कपड़े ढीले कर लेटा दिया जावे। रोगी को होश मे आने की दशा मे उसे ठण्डा पेय पदार्थ, जीवन रक्षक घोल, कच्चा आम का पन्ना दें। प्याज का रस अथवा जौ के आटे को भी ताप नियंत्रण के लिए मला जा सकता है। रोगी के शरीर का ताप कम करने के लिए यदि सम्भव हो तो उसे ठण्डे पानी से नहलाएं या उसके शरीर पर ठण्डे पानी की पट्टियां रखकर पूरे शरीर को ढंक दें। इस प्रक्रिया को तब तक दोहराएं, जब तक की शरीर का ताप कम नहीं हो जाता है।
उन्होंने बताया कि यदि उक्त सावधानी के बाद भी मरीज ठीक नहीं होता है, तो उसे तत्काल निकट की चिकित्सा संस्थान ले जाया जाए। सीएमएचओ डॉ. मेहरड़ा ने आम जन से अपील की है कि जहां तक सम्भव हो धूप में न निकलें, धूप में शरीर पूर्ण तरह से ढक़ा हो। धूप में बाहर जाते समय हमेशा सफेद या हल्के रंग के ढीले व सूती कपड़ों का उपयोग करें। बहुत अधिक भीड़, गर्म घुटन भरे कमरों से बचें, रेल बस आदि की यात्रा अत्यावश्यक होने पर ही करें, बिना भोजन किये बाहर न निकलें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Ranji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबBypoll results 2022 LIVE: UP की आजमगढ़ सीट से निरहुआ की हुई जीत, दिल्ली में मिली जीत पर केजरीवाल गदगदMaharashtra Political Crisis: केंद्र ने शिवसेना के बागी 15 विधायकों को दी Y प्लस कैटेगरी की सुरक्षा, शिंदे गुट ने डिप्टी स्पीकर के खिलाफ लिया ये फैसलाMaharashtra Political Crisis: राज्यपाल ने DGP और मुंबई पुलिस कमिश्नर को लिखी चिट्ठी, शिंदे गुट के विधायकों को सुरक्षा देने का दिया निर्देशMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बीजेपी फिर सत्ता में करने जा रही है वापसी? केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने दिया ये बड़ा बयानMumbai News Live Updates: कलिना, सांताक्रूज में पार्टी कार्यकर्ताओं के कार्यक्रम में शामिल हुए आदित्य ठाकरेMaharashtra Political Crisis: शिवसेना को बीजेपी से दूर क्यों रखना चाहते हैं उद्धव ठाकरे? समझिए पूरा समीकरणसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.