scripttime bumper production of Kinnow in Rajasthan | देश-विदेश में रहती है अच्छी मांग, राजस्थान में इस बार किन्नू का बंपर उत्पादन | Patrika News

देश-विदेश में रहती है अच्छी मांग, राजस्थान में इस बार किन्नू का बंपर उत्पादन

locationश्री गंगानगरPublished: Dec 11, 2023 03:59:57 pm

Submitted by:

Kamlesh Sharma

इलाके में किन्नू का इस बार बंपर उत्पादन है और जिले में सर्दी शुरू होने के साथ किन्नू में मिठास बढ़ गई है। जिले में इस साल तीन लाख 80 हजार मीट्रिक टन किन्नू उत्पादन का अनुमान है।

kinnow.jpg

कृष्ण चौहान/श्रीगंगानगर। इलाके में किन्नू का इस बार बंपर उत्पादन है और जिले में सर्दी शुरू होने के साथ किन्नू में मिठास बढ़ गई है। जिले में इस साल तीन लाख 80 हजार मीट्रिक टन किन्नू उत्पादन का अनुमान है। तीन साल पहले श्रीगंगानगर से किन्नू स्पेशल ट्रेन से से किन्नू बांग्लादेश निर्यात किया गया था जबकि इस बार किन्नू व्यापारियों के लिए बड़ा संकट खड़ा हो चुका है।

बांग्लादेश में किन्नू निर्यात करना मुश्किल है। किन्नू व्यापारियों ने बताया कि इस बार बांग्लादेश में किन्नू की इम्पोर्ट ड्यूटी 87 रुपए प्रति किलोग्राम है। जब तीन साल पहले श्रीगंगानगर से 15 बोगी में 345 मीट्रिक किन्नू बांग्लादेश भेजा था तब इम्पोर्ट ड्यूटी 35 रुपए प्रति किलोग्राम थी। श्रीगंगानगर और पड़ोसी राज्य पंजाब के अबोहर क्षेत्र के बागों में इस बार 25 हजार हैक्टेयर में किन्नू की बागवानी है। किन्नू उत्पादक किसान विजय यादव का कहा है कि बाग से किन्नू का औसत भाव 10 से साढ़े दस रुपए प्रति किलोग्राम तक सौदा हो रहा है।

प्रदेश में सबसे ज्यादा किन्नू उत्पादन गंगानगर में
राजस्थान में सबसे ज्यादा किन्नू की बागवानी श्रीगंगानगर जिले में होती है। जिले में किन्नू की बागवानी 10 हजार 238 हैक्टेयर में है और इस बार तीन लाख 80 हजार मीट्रिक टन किन्नू का उत्पादन होने का अनुमान है जबकि पिछले वर्ष 95 हजार मीट्रिक टन ही किन्नू का उत्पादन हुआ था।

यहां जाता है किन्नू
दक्षिणी राज्यों के अलावा नेपाल के लोगों को भी गंगानगरी किन्नू का स्वाद भाता है। तमिलनाडु के कोयंबटूर, मदुरै, केरला के विभिन्न शहरों, आंधप्रद्रेश के हैदराबाद, विजयवाड़ा, महाराष्ट्र के मुंबई, नासिक, उत्तर प्रदेश के मेरठ, लखनऊ, कर्नाटक के बेंगलूरु, गुजरात के अहमदाबाद, सूरत, बड़ौदा, मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल में गंगानगरी किन्नू की सप्लाई होती है। वहां से अन्य शहरों में किन्नू भेजा जाता है।

जिले में किन्नू की बागवानी व उत्पादन का गणित
ड्रिप पर फलों का क्षेत्रफल- 8738 हैक्टेयर
फलत अवस्था पर क्षेत्रफल- 10234 हैक्टेयर
पिछले वर्ष उत्पादन- 95 हजार मीट्रिक टन

इनका कहना है
श्रीगंगानगर और पंजाब के अबोहर सहित अन्य क्षेत्र में इस बार किन्नू का बंपर उत्पादन है। बांग्लादेश में किन्नू निर्यात करवाने में इस बार काफी दिक्कत आ रही है। वहां पर किन्नू निर्यात करने के लिए प्रति किलोग्राम 87 रुपए इम्पोर्ट ड्यूटी ली जा रही है जबकि श्रीगंगानगर में किन्नू का औसत भाव 10 रुपए प्रति किलोग्राम तक चल रहा है।
श्याम लाल बगड़िया, सचिव, गंगानगर किन्नू संघ

ट्रेंडिंग वीडियो