SAFE DRIVING व्यस्त सडक़ पर ऐसे होती है सुरक्षित ड्राइविंग

SAFE DRIVING व्यस्त सडक़ पर ऐसे होती है सुरक्षित ड्राइविंग
patrika

Vineet Sharma | Publish: Oct, 06 2019 12:18:36 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

मनपा का प्रशिक्षण शिविर- सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट नई दिल्ली से आए शहरयार जवेरी ने दिए वाहन चालकों को सुरक्षित ड्राइविंग के टिप्स

सूरत. सूरत महानगर पालिका प्रशासन की ओर ेसे आयोजित तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के तहत मनपा, बीआरटीएस और सिटीलिंक के 1800 से अधिक वाहन चालकों ने सुरक्षित वाहन चलाना सीखा। छह बैच में वाहन चालकों को यह प्रशिक्षण दिया।

यह भी पढें- training program; सूरत में मनपा सिखाएगी ऐसे चलाएं वाहन

सूरत महानगर पालिका ने वाहन चालकों को प्रशिक्षित करने का निर्णय किया था। इसके लिए सडक़ सुरक्षा और सुरक्षित ड्राइविंग विषय पर 3 अक्टूबर से तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर शुरू किया गया। यह प्रशिक्षण शिविर मनपा के अपने वाहनों पर काम कर रहे वाहन चालकों के लिए था। शनिवार को सम्पन्न हुए शिविर में छह बैच में 1800 से अधिक वाहन चालकों ने भाग लिया। इसमें मनपा और दमकल की गाडिय़ों को चला रहे वाहन चालकों के साथ ही सिटी बसों और बीआरटीएस बसों के वाहन चालकों ने भाग लिया।

SAFE DRIVING व्यस्त सडक़ पर ऐसे होती है सुरक्षित ड्राइविंग

सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट नई दिल्ली से आए शहरयार जवेरी ने वाहन चालकों को शहर की व्यस्त सडक़ों पर भी सुरक्षित वाहन चलाने के टिप्स दिए। यह इंस्टीट्यूट राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री समेत मंत्रियों और वीआइपी नेताओं के वाहन चालकों को सुरक्षित ड्राइविंग का प्रशिक्षण देता है।

मनपा के एडीशनल सिटी इंजीनियर केएच खटवाणी ने बताया कि मनपा के पास एक हजार से अधिक निजी वाहन हैं, जो विभिन्न सेवाओं में इस्तेमाल किए जाते हैं। इसके अलावा मनपा शहर मे ंसार्वजनिक परिवहन के लिए सिटी बस और बीआरटीएस बसों का भी संचालन करती है। मनपा प्रशासन को आए दिन इस तरह की शिकायतें मिलती रहती हैं, जिनमें मनपा के वाहन चला रहे वाहन चालकों पर गलत तरीके से वाहन चलाने के आरोप लगते हैं। मनपा प्रशासन अपने वाहन चालकों को सुरक्षित ड्राइविंग के प्रति जागरूक करने और ड्राइविंग की तकनीकी जानकारियां दिलाने के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया था।

गौरतलब है कि एक सर्वे के मुताबिक सडक़ दुर्घटनाओं की बड़ी वजह वाहन चालकों की लापरवाही मानी गई है। संयुक्त राष्ट्रसंघ ने भी सदस्य देशों को सडक़ हादसों में होने वाली मौतों की संख्या में कमी के उपाय करने के लिए कहा है। इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए सूरत समेत देशभर में विभिन्न संगठन और स्वयंसेवी संस्थाएं इस दिशा में काम कर रही हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned