script183 consumers participated, out of Rs 5 crore 70 lakh, Rs 24 lakh 64 t | नेशनल लोक अदालत में आने के लिए ४ हजार बिजली उपभोक्ताओं को दिया था नोटिस | Patrika News

नेशनल लोक अदालत में आने के लिए ४ हजार बिजली उपभोक्ताओं को दिया था नोटिस

locationटीकमगढ़Published: Dec 11, 2023 07:37:57 pm

Submitted by:

akhilesh lodhi

बिजली चोरी, बकायादार के साथ अन्य बिजली से संबंधित मामलों का निपटारा करने नेशनल लोक अदालत आयोजित की गई। इस आयोजन में उपभोक्ताओं को बुलाने के लिए जिले के ४ हजार से अधिक उपभोक्ताओं को नोटिस दिए थे। जिसमें उपभोक्ताओं को पूरी ब्याज माफी की छूट देने की बात कही थी, लेकिन नेशनल लोक अदालत में १८३ के करीब उपभोक्ता शामिल हुए है। जिन्होंने २४ लाख ६४ हजार रुपए जमा किए है।

183 consumers participated, out of Rs 5 crore 70 lakh, Rs 24 lakh 64 thousand were deposited.
183 consumers participated, out of Rs 5 crore 70 lakh, Rs 24 lakh 64 thousand were deposited.

टीकमगढ़. बिजली चोरी, बकायादार के साथ अन्य बिजली से संबंधित मामलों का निपटारा करने नेशनल लोक अदालत आयोजित की गई। इस आयोजन में उपभोक्ताओं को बुलाने के लिए जिले के ४ हजार से अधिक उपभोक्ताओं को नोटिस दिए थे। जिसमें उपभोक्ताओं को पूरी ब्याज माफी की छूट देने की बात कही थी, लेकिन नेशनल लोक अदालत में १८३ के करीब उपभोक्ता शामिल हुए है। जिन्होंने २४ लाख ६४ हजार रुपए जमा किए है।
बिजली कंपनी से मिली जानकारी अनुसार बिजली कंपनी ने जिले में ४ हजार उपभोक्ताओं को नोटिस दिए थे। उन्हें नेशनल लोक अदालत में शामिल होने की बात कही थी। उसके लिए सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से बकायादारों को जागरूक किया गया था। इसके साथ ही यह भी कहा गया था कि २० से ३० फीसदी ब्याज की राशि को माफ किया जाएगा। लेकिन उपभोक्ताओं द्वारा इस योजना का लाभ नहीं उठाया गया।
उपभोक्ताओं को है बिल माफी की उम्मीद
बिजली के बकायादार उपभोक्ताओं से शायद बकाया बिजली बिल माफ ी की उम्मीद है। लोक अदालत में बिजली कंपनी ने बकाया वसूली के लिए 20 से 30 प्रतिशत आलंकित राशि के साथ संपूर्ण ब्याज माफ ी की छूट दी थी। लेकिन बिजली कंपनी की यह छूट बकायादार उपभोक्ताओं को रास नहीं आई। वे इस छूट का लाभ लेने लोक अदालत नहीं पहुंचे। १८३ उपभोक्ता नेशनल लोक अदालत पहुंचे और २४ लाख ६४ हजार रुपए जमा किए।

४ हजार उपभोक्ताओं पर ५ करोड रुपए का बकाया
विभाग के कर्मचारियों ने बताया कि बिजली कंपनी ने बड़े बकायादारों की सूची बनाई थी। उसमें से ४ हजार बकायादार उपभोक्ताओं को नोटिस दिए गए थे। इन पर ५ करोड ७० लाख रुपए बकाया था। नेशनल लोक अदालत में १८३ उपभोक्ता शामिल हुए। जिनका ब्याज काटकर २४ लाख ६४ हजार रुपए जमा किए गए।
बिल माफी को लेकर जमा नहीं कर रहे बिल
किसानों का कहना था कि पिछली सरकार द्वारा घरेलु बिलों को नहीं लिया है। जो बिल बकाया पड़े है, वह शायद नई सरकार बनने के बाद माफ हो जाए। इस कारण से नेशनल लोक अदालत में बिल जमा करने के लिए नहीं गए है। जबकि बिजली कंपनी के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा बिल जमा करने के लिए लगातार जागरूक किया जा रहा है।
इनका कहना
बड़े बकायादार ४३० थे। उन पर ९० लाख रुपए बकाया पड़ी थी। उनमें से १२० बकायादारों ने नेशनल लोक अदालत में आकर २१ लाख रुपए जमा किए है। जो उपभोक्ता नेशनल लोक अदालत में नहीं आए है। उन्हें हर महीने बिल जमा करने के लिए जागरूक किया जाएगा।
नवीन कुमार, डीई बिजली कंपनी टीकमगढ़।

ट्रेंडिंग वीडियो