लापरवाही के चलते बस स्टॉप हो रहे बर्बाद, आवारा मवेशियों का बना रहता है कब्जा

शहर और प्रमुख सड़कों पर करोड़ों के प्रोजेक्ट में यात्री प्रतिक्षालय बनाए गए। लेकिन वह बर्बाद दिखाई दे रहे है।

By: akhilesh lodhi

Published: 01 Aug 2021, 08:16 PM IST

टीकमगढ़़.शहर और प्रमुख सड़कों पर करोड़ों के प्रोजेक्ट में यात्री प्रतिक्षालय बनाए गए। लेकिन वह बर्बाद दिखाई दे रहे है। किसी पर मवेशियों ने स्थान बना लिया है तो किसी पर फुटपात पर दुकान लगाने वालों ने सामान रख लिया है। इसके साथ ही हाइवें पर बनाए गए यात्री प्रतिक्षालय टूटने लगे है। जिसम पर जिम्मेदार विभागों द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
शहर को सुधारने के लिए ढेरों प्रोजेक्ट चलाए गए और चल रहे है। उन पर करोड़ों रुपए खर्च किए गए। लेकिन उनका फायदा लोगों को नहीं मिल रहा है। इन प्रोजेक्ट में लोगों के साथ मवेशियों तक की सुविधाएं देने की योजनाएं बनी। लेकिन अधिकांश योजनाएंं फेल है। हालात यह है कि शिकायतों का निपटारा भी नहीं हो रहा है। जो लोगों को सुविधाएं देने वाली सामग्री रखरखाव के बगैर खराब होने लगी है।
मऊरानीपुर और छतरपुर रोड का प्रतिक्षालय खराब
लोगों की सुविधाओं के लिए विभागों ने मजना और जशबंतनगर तिगैला और छतरपुर के रानीपुरा तिगैला पर यात्री प्रतिक्षालय बनाया गया। लेकिन उस पर ग्राम पंचायतों ने ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण असामाजिक तत्वों ने सार्वजनिक भवनों पर कब्जा करके व्यवसाय जमा लिया है। जिसके चलते वहां पर लोगों को सुविधाएं नहीं मिल पा रही है। वहीं जशबंतनगर तिगैला के प्रतिक्षालय में मवेशियों ने कब्जा जमाया हुआ है। जिसमें गंदगी के अलावा कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा है।
एमपीइबी के नपा ने बनाया था प्रतिक्षालय, उस पर भी कब्जा
नगर के झांसी रोड एमपीइबी विभाग के मुख्य दरवाजा पर यात्री प्रतिक्षालय नपा द्वारा बनाया गया है। लेकिन उस पर फुटपात पर दुकान लगाने वालों का कब्जा है। कोई अपने व्यवसाय का सामान रखे हुए है तो कोई हाथ ठेला रखे हुए है। कुर्सियां टूटने लगी है। जहां पर यात्री बैठने के लिए नहीं पहुंच पा रहे है। हालांकि बैठने को लेकर राहगीरों की कई बार विवाद भी हो गया है। लेकिन मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। वहीं गनेशगंज से खिरियानाका तक यात्री प्रतिक्षालयों की देखरेख नहीं होने से बर्बाद हो रहे है।


बारिश के समय यात्री हो रहे परेशान
जिले में एक हफ्ता से हल्की और तेज बारिश का होना शुरू हो गया है। लेकिन बसों का इंतजार करनेे वाले और रास्तोंं पर जाने वाले राहगीरों को छुपने के लिए जगह नहीं मिल रही है। जिसके कारण उन्हें बारिश में ही सुरिक्षत स्थान पर पहुंचना पड़ता है।
इनका कहना
बारिश का मौसम बना हुआ है। राहगीरों को बारिश के बचने के लिए यात्री के साथ बसों का इंतजार करने वाले लोगों यात्री प्रतिक्षालय बहुत जरूरी है। शहर के यात्रि प्रतिक्षालयों की जानकारी नपा और विभिन्न सड़कों पर बने प्रतिक्षालयों की जानकारी संबंधित विभाग से करके उनका सुधार करवाता हूं।
सुभाष कुमार द्विवेदी कलेक्टर टीकमगढ़।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned