video: मातमी धुनों के बीच जुलूस निकाल ताजिया किया सुपुर्द-ए-खाक

मोहर्रम अकीदत के साथ मनाया गया। अनेक अकीदतमन्दों ने रोजे रखे और नमाज पढ़ी।

 

लाम्बाहरिसिंह.

कस्बे में हजरत इमाम हुसैन की शहादत की याद में रविवार को मातमी धुनों के बीच ताजिया जुलूस निकाल सुपुर्द-ए-खाक किया गया। सदर हाजी हनीफ मोहम्मद ने बताया कि जामा मस्जिद से मातमी धुनों के साथ ताजिए का जुलूस रवाना हुआ। जुलूस में युवा ढोल ताशों पर मातमी धुन बजाते चल रहे थे। पटेबाजों ने जगह-जगह हेरतअंगेज करतब दिखाएं । जुलूस कस्बे के विभिन्न मार्गों से गुजरता हुआ शाम को कर्बला पहुंचा, जहां ताजिए को सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

 


मालपुरा . कस्बे में रविवार को अलग-अलग स्थानों से मोहर्रम पर ताजिए निकाले गए।अल्लाद्दीन देशवाली के नेतृत्व में ट्रक स्टैण्ड स्थित देशवालियों की मस्जिद से ताजिया निकाला गया, ट्रक स्टैण्ड स्थित झालरा तालाब कर्बला पहुंचा। वही इमामुदï्दीन खां के नेतृत्व में नागोरियों की मस्जिद से ताजिया निकाला गया, जो बम्ब तालाब स्थित कर्बला पहुंचा। हमालों का ताजिया नवीन मण्डी स्थित मुसाफिर खाने से निकाला गया जो ट्रक स्टैण्ड स्थित कर्बला पहुंचा, जहां पर ताजिए को सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

 


निवाई. मोहर्रम अकीदत के साथ मनाया गया। अनेक अकीदतमन्दों ने रोजे रखे और नमाज पढ़ी। इमाम चौक से सुबह ताजिया का जुलूस मातमी धुनों के बीच रवाना हुआ। इसके बाद ताजिया का जुलूस बड़ा बाजार से रवाना होकर कायस्थ मोहल्ला, मालियों का मोहल्ला, पहाडी चुंगी नाका होते हुए भरकुंआ तालाब के समीप स्थित कर्बला पहुंचा, जहां ताजियों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया। इसी प्रकार गांव सिरस, झिलाय में ताजिया का जुलूस निकाला गया।

 

 


उनियारा. कस्बे में मोहर्रम का जुलूस सुबह 11 बजे छतरियों का मोहल्ला स्थित इमामबाड़े से रवाना हुआ। बाद में ये जुलूस मुख्य बाजार, कटला गेट, खातोली गेट होता हुआ गढ़ के सामने पहुंचा। जहां कुछ समय विश्राम के बाद जुलूस मुख्य बाजार स्थित रघुनाथ जी के मंदिर के सामने चौक में पहुंचा। इस बीच मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मातमी धुनों के साथ नाते पाक भी पढ़ी।

 

शाम को ताजियों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया। इस दौरान अंजुमन ताजिया कमेटी की ओर से पुलिस उपाधीक्षक किशोरी लाल एवं तहसीलदार आमोद माथुर ने उस्तादों की दस्तारबंदी की तथा करतब दिखाने वालों को पुरस्कृत किया गया।

 

 

पचेवर . कस्बे सहित नगर गांव में मोहर्रम का पर्व परम्परागत तरीके से मनाया गया। मुस्लिम वेलफैयर सोसाइटी के मोहम्मद हुसैन ने बताया कि ताजिए के जुलूस के दौरान जगह-जगह अखाड़े खेलते हुए करतब दिखाए गए। जुलूस की शुरुआत में जामा मस्जिद से ग्राम पंचायत सरपंच घनश्याम गुर्जर ने हाजी अबरार शाह का माला पहनाकर व साफा बंधाकर सम्मान किया।

 


नासिरदा . कस्बे में इमामबाड़ा से रवाना होकर एक बजे माणक चौक पहुंचेे। जहां पर लोगों ने अखाड़ेबाजी के कारनामे दिखाए। शाम को ताजिए को देवली रोड पर स्थित कर्बला पर सुपुर्दे खाक किया गया।

 


नगरफोर्ट. कस्बे में मोहर्रम का पर्व रविवार को मातमी माहौल में मनाया गया। कस्बे में शनिवार रात बड़ी मस्जिद से मातमी धुनों के बीच ताजिया निकाले गए। इसके बाद रविवार सुबह नौ बजे से ही ताजिये का जुलूस रवाना हुआ, जो कस्बे के विभिन्न मार्गों से गुजरता हुआ कर्बला पहुंचने के बाद सुपुर्द-ए-खाक किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में कस्बे व आसपास के लोग शामिल हुए।

Show More
pawan sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned