script असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डाटा किया जा रहा तैयार, बन रहे ई-श्रम कार्ड | Data of unorganized sector workers is being prepared | Patrika News

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डाटा किया जा रहा तैयार, बन रहे ई-श्रम कार्ड

locationउदयपुरPublished: Feb 12, 2024 06:28:05 pm

Submitted by:

Madhusudan Sharma

सरकार अब असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे कामगारों की भी कुंडली तैयार करने में जुटी हुई है। इसके लिए असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे महिला-पुरुष श्रमिकों को ई-श्रम कार्ड बनवाना होगा।

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डाटा किया जा रहा तैयार, बन रहे ई-श्रम कार्ड
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डाटा किया जा रहा तैयार, बन रहे ई-श्रम कार्ड
उदयपुर. सरकार अब असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे कामगारों की भी कुंडली तैयार करने में जुटी हुई है। इसके लिए असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे महिला-पुरुष श्रमिकों को ई-श्रम कार्ड बनवाना होगा। इसके अलावा सभी पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के भी ई-श्रम कार्ड बनाए रहे हैं। ई-श्रम कार्ड बनने के बाद श्रमिकों की संख्या का अंदाजा लगाया जा सकेगा। इन डाटा के आधार पर ही सरकार योजना बना सकती है। इनका ऑनलाइन पोर्टल पर डेटा फीड किया जाएगा। इससे जिले का डेटा सामने आ जाएगा।
अभी तक बन चुके पौने चार लाख कार्ड

श्रम विभाग की ओर से जगह-जगह कैंप आयोजित कर ये कार्ड बनवाए जाने का कार्य किया जा रहा है। इसी के तहत अब तक जिले में 3 लाख 79 हजार ई श्रम कार्ड बनाए जा चुके हैं।
सीएससी पर बन रहे निशुल्क

संयुक्त श्रम आयुक्त संकेत मोदी ने बताया कि असंगठित क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों के ई-श्रम कार्ड कॉमन सर्विस सेंटरों पर निशुल्क बनाए जा रहे हैं। इसके अलावा कैंप के माध्यम से भी ये कार्ड निशुल्क बनाए जा रहे हैं। कोई भी श्रमिक जिसकी आय 15 हजार रुपए से कम हैं वो ई-श्रम कार्ड बनवा सकता है। इसमें आंगनबाडी कार्यकर्ता और सहायिका आदि वर्ग भी शामिल हैं।
श्रमिकों को दूसरे राज्यों में भी मिल सकेगा लाभ

जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार की ओर से देश के सभी राज्यों के भवन एवं अन्य संनिर्माण श्रमिक कल्याण मंडलों को ई-श्रम पोर्टल पर इंटिग्रेशन करने के भी निर्देश दिए हैं, ताकि पंजीकृत श्रमिक के एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने पर दिए गए हितलाभों की पोर्टिबिलिटी को सुनिश्चित किया जा सके।

ट्रेंडिंग वीडियो