video: उदयपुर के इस पिता-पुत्र का अनोखा जुनून..दोनों मिल कर बना रहे रिकॉर्ड दर रिकॉर्ड

rajdeep sharma

Updated: 30 Nov 2017, 07:38:37 PM (IST)

Udaipur, Rajasthan, India

कैसे जन्मा यह शौक

1/7

महेश को अन्य लोगों के अलग-अलग संग्रह की कहानियों और खबरों ने लुभाया तो यश अपने पिता के नोट कलेक्शन से प्रेरित हुआ। बाद में दोनों ने ही शहर के अन्य संग्रहकर्ताओं से अलग राह बनाने की मन में ठानी और बाकी हकीकत रिकॉड्र्स में तब्दील होती गई।

 

उदयपुर . कहते हैं हर शौक की एक उम्र होती है और उस उम्र के साथ या तो वह शौक परवान चढ़ता है या फिर खत्म हो जाता है। शौक भी कब, किसे, किसका और कैसे लग जाए, ये कोई नहीं जानता। बहरहाल, यहां जिक्र लेकसिटी के एक पिता-पुत्र का उस शौक के लिए जिसे पाले महज आठ ही बरस हुए हैं। इस दौरान व्यवसायी महेश जैन के पास जहां एक ओर इनसेट और प्रीफिक्स कलेक्शन में एक रुपए से लेकर हजार रुपए तक में अब तक सभी गर्वनर के नोट संग्रहीत हैं वहीं, दूसरी ओर इनके पुत्र यश के संग्रह में अजब-गजब सिक्कों की ऐसी दुनिया है जिसके बूते उसने बीस से अधिक विश्व रिकॉर्ड बनाए हैं।







राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned