बड़ा फैसला: उदयपुर की झीलों में गन्दगी की समीक्षा अब कलक्टर की अध्यक्षता में कमेटी करेगी

बड़ा फैसला: उदयपुर की झीलों में गन्दगी की समीक्षा अब कलक्टर की अध्यक्षता में कमेटी करेगी

Mukesh Hingar | Publish: Feb, 03 2018 09:32:25 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

उदयपुर.कलक्टर के नेतृत्व में एक समिति बना रहे है जो इसको देखे और रिपोर्ट बनाए।

उदयपुर . जोधपुर हाईकोर्ट ने शुक्रवार को एक बड़ा फैसला करते हुए उदयपुर की झीलों में गिरने वाली गन्दगी को निकालने और उनको साफ-सुथरा रखने के लिए अब जिला कलक्टर की अध्यक्षता में बनाई एक कमेटी देखेगी और उसकी समीक्षा करेगी। हाईकोर्ट ने स्वप्रेरणा याचिका को निस्तारित करते हुए कहा कि हम नियमित मॉनिटरिंग नहीं कर सकते है इसके लिए कलक्टर के नेतृत्व में एक समिति बना रहे है जो इसको देखे और रिपोर्ट बनाए।

 

जोधपुर हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पी. नंद्राजोग ने शुक्रवार को सुनवाई के दौरान फैसला देते हुए कहा कि झीलों के संरक्षण को लेकर उनकी नियमित साफ-सफाई तथा उनमें सीवरेज व अन्य गन्दगी नहीं समाहित हो इसके लिए जिला कलक्टर की अध्यक्षता में समिति बनाई जाती है जो इस पर सतत् निगरानी रखेंगे, यह समिति हर तीन महीने में बैठ कर इस विषय पर पूरी समीक्षा करेगी। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने स्व प्रेरणा याचिका का निस्तारण भी कर दिया। सरकार की ओर से अधिवक्ता अनुराग शुक्ला ने अपना पक्ष रखा।

 

READ MORE: उदयपुर के मादड़ी में बनेगी 10 लाख लीटर की टंकी, कई कॉलोनियों के बाशिंदों की बुझेगी प्यासhttp://bit.ly/2GKhV8C

 

ऐसे बनाई समिति चेयरमैन : जिला कलक्टर सदस्य : नगर निगम आयुक्त, यूआईटी सचिव व प्रदूषण नियंत्रण मंडल के प्रतिनिधि। अन्य सदस्य : एक्सपर्ट जी.पी. सोनी, अधिवक्ता प्रवीण खंडेलवाल व न्यायमित्र संजीत पुरोहित।

 

 

झीलों का संजीवनी भी हाईकोर्ट से मिली जोधपुर हाईकोर्ट की स्व प्रेरणा याचिका से ही उदयपुर की फतहसागर व पिछोला झील को संजीवनी मिली है। हाईकोर्ट ने समय-समय पर सरकार, नगर निगम व यूआईटी को कई बार फटकार लगाई तथा झीलों मेें गिरने वाले नालों को बंद करने के लिए कई बार आदेश दिए और टिप्पणियां की। हाईकोर्ट के दखल के बाद इन दोनों झीलों की सार-संभाल को लेकर प्रशासन व दोनों एजेसियां सक्रिय हुई और झीलों में से गिरने वाले सीवरेज को रोका, झीलों में कचरा डालने वालों पर नजर रखने के लिए सीसी टीवी कैमरें फतहसागर पर लगाए, जुर्माना लगाने के बोर्ड लगाए तथा लेक पेट्रोल टीम का गठन किया जो झीलों में तेल व साबून लगाकर नहाने वाले, गाडिय़ां व कपड़े धोने वालों को पाबंद करने लगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned