script कॉलेजों व विश्वविद्यालयों को रास नहीं आ रही पढ़ाई के साथ कमाई | UGC New Order for All Collage | Patrika News

कॉलेजों व विश्वविद्यालयों को रास नहीं आ रही पढ़ाई के साथ कमाई

locationउदयपुरPublished: Feb 13, 2024 05:19:20 pm

Submitted by:

Madhusudan Sharma

पढ़ाई के साथ-साथ कमाई की योजना सुनकर अच्छा लगता है। लेकिन ये सच है, क्योंकि यूजीसी की ओर से करीब एक माह पूर्व दिए आदेश के तहत किसी भी विश्वविद्यालय और कॉलेज ने इसमें रूचि नहीं दिखाई है।

कॉलेजों व विश्वविद्यालयों को रास नहीं आ रही पढ़ाई के साथ कमाई
कॉलेजों व विश्वविद्यालयों को रास नहीं आ रही पढ़ाई के साथ कमाई

उदयपुर. पढ़ाई के साथ-साथ कमाई की योजना सुनकर अच्छा लगता है। लेकिन ये सच है, क्योंकि यूजीसी की ओर से करीब एक माह पूर्व दिए आदेश के तहत किसी भी विश्वविद्यालय और कॉलेज ने इसमें रूचि नहीं दिखाई है। इस आदेश को एक माह बीत जाने के बावजूद भी अधिकतर कॉलेजों व विश्वविद्यालयों में योजना को धरातल पर नहीं उतारा जा सका है। ऐसे में उदयपुर जिले के विश्वविद्यालय और महाविद्यायलों में पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को इसका इंतजार है। आपको बता दें कि इस योजना में गरीब व पिछड़े वर्गों के विद्यार्थियों को शामिल किया है। इन विद्यार्थियों को पढ़ाई के दौरान रोजगार या फिर अपना काम शुरू करने के लिए सशक्त बनाना है। उदयपुर जिले में मोहनलाल सुखाडि़या विश्ववि्द्यालय सहित इससे संबंद्ध करीब 250 कॉलेज इससे संबद्ध है। इनमें करीब ढाई लाख विद्याथीZ अध्ययनरत हैं।

वंचित वर्ग को सशक्त बनाने की दिशा में काम

जानकारी के अनुसार विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की विशेषज्ञ समिति ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी-2020) के तहत सामाजिक-आर्थिक वंचित वर्ग के युवाओं को समान मौके देने के लिए निर्देश जारी किए थे। इसमें विद्यार्थियों को अर्न व्हाइल लर्न अथाZत पढ़ाई के साथ कमाई योजना के तहत सशक्त बनाया जाना है। इसमें पढ़ाई के दौरान विद्यार्थियों को व्यावसायिक कौशल ट्रेनिंग कराई जाएगी।

पाठ्यक्रमों में व्यावसायिक-कौशल ट्रेनिंग होगी शामिल

यूजीसी के आदेशानुसार विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों को 15 वर्षीय कार्यक्रम तैयार किया जाएगा। यूजीसी अध्यक्ष प्रो. एम जगदीश कुमार ने सभी विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों को ये आदेश जारी किया है। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि उच्च शिक्षा संस्थानों को संस्थागत विकास योजना के तहत कोर्स में व्यावसायिक कौशल ट्रेनिंग शामिल की जाए।

इन वर्गों के विद्यार्थी होंगे शामिल

इस योजना के लिए महिला, ट्रांसजेंडर अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, ईडब्ल्यूएस, ओबीसी, अल्पसंख्यक, क्षेत्रीय भाषा माध्यम आदि को सशक्त बनाने की दिशा में तैयारी की जा रही है। इसके अलावा 40 फीसदी से अधिक वाले दिव्यांगजन और शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक दिव्यांगजन के अलावा बीपीएल, प्रवासी समुदाय, बाल भिखारी, असुरक्षित स्थितियों में रहने वाले विद्यार्थी आदि को आगे लाने की दिशा में काम किया जाएगा। विश्वविद्यालय और महाविद्यालय अपने स्तर पर इनका चयन करेंगे।

उदयपुर संभाग के 250 कॉलेज सुविवि से संबद्ध

2.35 लाख विद्यार्थीं

09 फेकल्टी

182 फेकल्टी सदस्य

38 विभाग संचालित

40 कॉलेज चित्तौडगढ़़ जिले के

32 कॉलेज राजसमंद जिले के

24 कॉलेज सिरोही जिले के

101कॉलेज उदयपुर जिले के

ट्रेंडिंग वीडियो