scriptTrain could not run from Ujjain to Chittaurgarh due to waiting for train coaches. | ट्रेन डिब्बों के इंतजार में उज्जैन से चित्तौड़गढ़ तक नहीं दौड़ पाई ट्रेन.... | Patrika News

ट्रेन डिब्बों के इंतजार में उज्जैन से चित्तौड़गढ़ तक नहीं दौड़ पाई ट्रेन....

locationउज्जैनPublished: Dec 26, 2023 11:48:07 am

Submitted by:

Ashtha Awasthi

उज्जैन। इसे विडंबना ही कहेंगे कि एक ट्रेन डिब्बों के इंतजार में उज्जैन से चित्तौड़गढ़ तक नहीं दौड़ पाई। जबकि इस ट्रेन को सितंबर माह में ही मंजूरी मिल गई थी। उज्जैन से रतलाम- मंदसौर व नीमच होते हुए चित्तौडगढ़ चलने वाली मेमू ट्रेन को रेलवे बोर्ड के कोचिंग निदेशक विवेक कुमार सिन्हा ने सितंबर माह में मंजूर कर दिया था, लेकिन हैरानी की बात ये है कि तब से लेकर अब तक ये ट्रेन पटरी पर इसलिए नहीं दौड़ पाई, क्योंकि रतलाम रेल मंडल इस मंजूर ट्रेन के लिए डिब्बों की व्यवस्था ही नहीं कर पाया।

capture_3.png
Train

जब ये मामला रेल यात्रियों के सामने आया तब यात्रियों ने सोशल मीडिया पर अभियान की शुरूआत कर दी। जवाब में मंडल के वरिष्ठ परिचालन प्रबंधक पीके तिवारी ने ट्वीट किए कि इस प्रकार की कोई मंजूरी नहीं हुई, हालांकि यात्रियों ने मंजूरी के आदेश के पत्र को जवाब में डाला तो रेल अधिकारी को अपने ट्वीट को निरस्त करना पड़ा।

लंबे समय से रेल यात्री उज्जैन से उज्जैन से फतेहाबाद - रतलाम - मंदसौर - नीमच - चित्तौडगढ़ के लिए तेज गति से चलने वाली ट्रेन की मांग कर रहे थे। इसके लिए मेमू ट्रेन की मांग हो रही थी। वर्ष 2016 के सिंहस्थ के समय से की जा रही मांग के बाद रेलवे बोर्ड ने इसकी मंजूरी दी। हालांकि इस सूचना के बाद भी यात्रियों के लिए ट्रेन चलाने में रेल मंडल कमजोर साबित हुआ है।

इस तरह चलना है ट्रेन को- ट्रेन नंबर 09231 उज्जैन से चित्तौडगढ़ के लिए सुबह 9.50 बजे चलेगी। रतलाम ये ट्रेन दोपहर 12.10 बजे आकर 10 मिनट बाद दोपहर करीब 2.15 बजे मंदसौर व 3.15 बजे नीमच से चलकर शाम 4.30 बजे चित्तौडगढ़ पहुंचेगी। इसी प्रकार वापसी में ट्रेन नंबर 09232 चित्तौडगढ़ से शाम 4.40 बजे चलकर नीमच 5.30 बजे, 6.30 बजे मंदसौर व रात 8.10 बजे रतलाम होते हुए 10.30 बजे उज्जैन पहुंचेगी। ट्रेन का ठहराव दोनों दिशा में फतेहाबाद, चंद्रावतीगंज, रतलाम, जावरा, मंदसौर, नीमच व निंबाहेड़ा में होगा।

रात 8 बजे के पहले नहीं है मंदसौर-नीमच के लिए ट्रेन

बता दें, उज्जैन से मंदसौर-नीमच के लिए रात 8 बजे से पहले कोई सीधी ट्रेन नहीं है। हालांकि पहले सुबह 10.30 बजे इंदौर-उदयपुर ट्रेन (वीरभूमि एक्सप्रेस) थी, जिसे अब रात में कर दिया गया है। ऐसे में उज्जैन से जाने वाले लोगों के लिए रात 8 बजे के पहले कोई सीधी ट्रेन नहीं है। हालांकि उन्हें फतेहबाद या रतलाम जाकर ट्रेन बदलना पड़ती है। इस ट्रेन के शुरू हो जाने से उज्जैनवासियों को मंदसौर, नीमच, निंबाहेड़ा व चित्तौडग़ढ़ जाने के लिए सीधी ट्रेन की सुविधा मिल सकेगी।

खेमराज मीणा, मंडल रेल जनसंपर्क अधिकारी, रतलाम रेल मंडल मेमू को चलाने के लिए डिब्बों का इंतजार हो रहा है। जल्दी ही मंडल को उज्जैन - चित्तौडगढ़ ट्रेन को चलाने के लिए डिब्बे मिल जाएंगे, इसके बाद इसका संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो