राजनीति नहीं, 'कचरे' पर भिड़े दुनिया के ये दो बडे देश, एक ने राजदूत को वापस बुलाया

राजनीति नहीं, 'कचरे' पर भिड़े दुनिया के ये दो बडे देश, एक ने राजदूत को वापस बुलाया

Deepika Sharma | Publish: May, 17 2019 06:46:40 PM (IST) अजब गजब

  • इन मुद्दों पर भिड़े आपस में दो देश
  • कचरा बना संकट का विषय
  • वापस बुला रहा है फिलीपींस अपने राजदूत को

नई दिल्ली। अक्सर हमने बॉडर पर जंग छिड़ते देखा है, लेकिन हाल ही में दुनिया के दो बड़े देश ( country ) किसी और मुद्दे पर नहीं बल्कि 'कचरे' के मुद्दे को लेकर आमने-सामने हैं। ये दो देश हैं- कनाडा और फिलीपींस ( Philippines )। और तो और फिलीपींस ने इस मुद्दे को आधार बनाकर अपने राजदूत तक को वापस बुलाया लिया है।
बता दें कि 2013 से 2014 के बीच कनाडा ने फिलीपींस को हजारों टन कचरे का ढेर भेजा था। कनाडा के अनुसार यह कचरा इस्तेमाल लायक है, जिसे रीसाइकल (recycle) किया जा सकता है। जबकि फिलीपींस का कहना है कि कनाडा ने जो कचरा भेजा है वो वेस्ट गार्बेज है। उसे रीसाइकल नहीं किया जा सकता। साथ ही यह भी कहा है कि ये कचरा जहरीला है। फिलीपींस ने कनाडा को ये कचरा वापस लेने को कहा है, जिससे दोनों देशों में तनाव (TENSION) बढ़ गया है।

 

मामला इतना गरमा गया कि इसके लिए फिलीपींस के विदेश सचिव ने बीते गुरुवार को राजदूत को वापस फिलीपींस बुलाने का आदेश दे दिया। फिलीपींस के राष्ट्रपति ( president) ने मीडिया को बताया कि अगर कनाडा अपना कचरा वापस नहीं लेकर जाएगा तो वह खुद समुद्र के रास्ते से कनाडा जाकर उसका कचरा वहां छोड़ कर आएंगे। खबर के अनुसार कचरे से भरे दर्जनों कंटेनर ( container) फिलहाल फिलीपींस में ही हैं।


फिलीपींस अधिकारियों के अनुसार कचरे के ये कंटेनर मनीला अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचाए गए थे, जिन पर गलती से रीसाइकल होने वाली प्लास्टिक का लेबल लगाया दिया गया था। जब इन कंटेनर को खोलकर देखा गया, तो इनमें घरों का कचरा भरा हुआ था। जिस कारण उनका देश कूड़ेदान बन गया है।

 

garbage

अक्सर हमने बॉडर पर जंग छिड़ते देखा है, लेकिन हाल ही में दुनिया के दो बड़े देश किसी और मुद्दे पर नहीं बल्कि 'कचरे' के मुद्दे को लेकर आमने-सामने हैं। ये दो देश हैं- कनाडा और फिलीपींस। और तो और फिलीपींस ने इस मुद्दे को आधार बनाकर अपने राजदूत तक को वापस बुलाया लिया है।


बता दें कि 2013 से 2014 के बीच कनाडा ने फिलीपींस को हजारों टन कचरे का ढेर भेजा था। कनाडा के अनुसार यह कचरा इस्तेमाल लायक है, जिसे रीसाइकल किया जा सकता है। जबकि फिलीपींस का कहना है कि कनाडा ने जो कचरा भेजा है वो वेस्ट गार्बेज है। उसे रीसाइकल नहीं किया जा सकता। साथ ही यह भी कहा है कि ये कचरा जहरीला है। फिलीपींस ने कनाडा को ये कचरा वापस लेने को कहा है, जिससे दोनों देशों में तनाव बढ़ गया है।

 

garbage

मामला इतना गरमा गया कि इसके लिए फिलीपींस के विदेश सचिव ने बीते गुरुवार को राजदूत को वापस फिलीपींस बुलाने का आदेश दे दिया। फिलीपींस के राष्ट्रपति ने मीडिया को बताया कि अगर कनाडा अपना कचरा वापस नहीं लेकर जाएगा तो वह खुद समुद्र के रास्ते से कनाडा जाकर उसका कचरा वहां छोड़ कर आएंगे। खबर के अनुसार कचरे से भरे दर्जनों कंटेनर फिलहाल फिलीपींस में ही हैं।

फिलीपींस अधिकारियों के अनुसार कचरे के ये कंटेनर मनीला अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचाए गए थे, जिन पर गलती से रीसाइकल होने वाली प्लास्टिक का लेबल लगाया दिया गया था। जब इन कंटेनर को खोलकर देखा गया, तो इनमें घरों का कचरा भरा हुआ था। जिस कारण उनका देश कूड़ेदान बन गया है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned