गोरिल्ला जो करती थी इंसानों से बातें, बड़े-बड़े स्टार्स के साथ था उसका उठना बैठना

गोरिल्ला जो करती थी इंसानों से बातें, बड़े-बड़े स्टार्स के साथ था उसका उठना बैठना

Priya Singh | Publish: Mar, 07 2019 02:46:36 PM (IST) अजब गजब

  • गोरिल्ला जो करती थी साइन लैंग्वेज में बात
  • बात करने की खूबी ने दिलाया फिल्मों में काम
  • बिल्लियों से था खासा लगाव

नई दिल्ली। कोको शायद दुनिया की सबसे मशहूर मादा गोरिल्ला थी। उसके मशहूर होने की वजह उसका बात करना था। वह लोगों से साइन लैंग्वेज की मदद से बात किया करती थी। उसने अमरीकन साइन लैंग्वेज के लगभग 1000 शब्द सीख लिए थे। हैरान कर देने वाली बात यह है कि उसे अंग्रेजी भाषा में बोले जाने वाले लगभग 2000 शब्द समझ भी आते थे। 4 जुलाई 1971 को जन्मी कोको अद्भुत थी। जब वह 1 साल की थी तब एनिमल साइकोलॉजिस्ट फ्रांसिने से उसकी मुलाकात हुई। फ्रांसिने और कोको कुछ ही दिनों में अच्छे दोस्त बन गए। धीरे-धीरे कोको इशारों में बात करना सीखने लगी। कोको की इशारों में बात करने की इस खूबी ने उसे फिल्मों में काम दिलाया। सन 1978 में कोको की फोटो नेशनल जियोग्राफिक के मैगज़ीन कवर पर भी आई। इंसानों के साथ-साथ कोको को बिल्लियां भी खूब भाती थीं।

Koko

फ्रांसिने के मुताबिक, '12 साल की उम्र में कोको ने अपने जन्मदिन पर एक बिल्ली तोहफे में मांगी थी।" फ्रांसिने ने उसे एक बिल्ली का खिलौना लाकर दिया तो वह नाराज़ हो गई। उसने इशारों में बताया कि उसे एक असली बिल्ली ही चाहिए। उसकी फरमाइश को देखते हुए फ्रांसिने ने उसे एक बिल्ली गिफ्ट की जिसका नाम ऑल बॉल रखा गया। इसके बाद कोको ने कई बिल्लियां पालीं जिनका वह एकदम मां की तरह ख्याल रखती थी। कोको का इंसानों से संपर्क करने की वजह से वैज्ञानिकों को उसमें खासी दिलचस्पी रहती थी। वह 90 में से 70 IQ टेस्ट में पास हुई। उसका दिमाग बिल्कुल एक इंसानी बच्चे जितना तेज था। इतना ही नहीं एक बार कोको ने अपनी ट्रेनर से झूठ भी बोला। बड़े-बड़े फिल्म स्टार कोको के फैन रह चुके हैं जिनमें लियोनार्डो डिकैप्रियो Leonardo DiCaprio भी शामिल हैं। कोको रॉबिन विलियम्स Robin Williams की बहुत बड़ी फैन थी।

talking gorilla

2014 में कोको ने जब उनके निधन की खबर सुनी तो वह कुछ घंटों के लिए मौन रह गई उसे उनके जाने का बहुत दुख हुआ। मां बनने की चाह रखने वाली कोको की यह इच्छा कभी पूरी नहीं हो पाई। 46 वर्षीय कोको 19 जून 2018 को दुनिया छोड़कर चली गई। वह रात में सोई और फिर कभी नहीं उठी। फ्रांसिने कहती हैं "कोको हमेशा मेरी सबसे अच्छी दोस्त रहेगी।"

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned