scriptchina builds artificial moon on earth | चीन ने बनाया नकली चांद! | Patrika News

चीन ने बनाया नकली चांद!

आखिरकार चीन ने नकली सूरज के बाद अब नकली ‘चांद’ (Artificial Moon) भी बना लिया है। चीन का कहना है कि उसके चांद पर ग्रैविटी बिल्कुल नहीं है। चीन का चांद जीरो ग्रैविटी (Zero Gravity Moon) वाला है। जानिए चीन के इस नकली चांद के बारे में सब कुछ

नई दिल्ली

Updated: January 18, 2022 07:17:24 am

चीन अपना अंतरिक्ष कार्यक्रम को तेजी से आगे बढ़ा रहा है। ‘कृत्रिम सूरज’ (Artificial Sun) के बाद देश ने अब एक ‘कृत्रिम चांद’ (Artificial Moon) भी बना लिया है। इसको बनाने का मकसद भविष्य में चुंबकीय शक्ति से चलने वाले यान और यातायात के नए तरीके खोजने और चांद पर इंसानी बस्ती बनाने का है। चीन के वैज्ञानिकों ने अभी इसका एक छोटा प्रयोग किया है। इसके बाद इस साल के अंत तक एक ताकतवर चुंबकीय शक्ति वाला वैक्यूम चैंबर बनाएगा।
china builds artificial moon on earth
Moon (Representational Image)
कैसा होगा नकली चांद:
‘नकली चांद’ का व्यास लगभग 2 फीट का होगा. इसकी सतह को चांद की चट्टानों और धूल जैसा तैयार किया गया है। इसका वजन भी चांद पर मौजूद धूल- पत्थर के जितना रखा गया है। चांद पर गुरुत्वाकर्षण धरती के छठे हिस्से के बराबर है। नई डिजाइन के अंदर आर्टफिशल ग्रैविटी के असर से प्रोत्थापन (Levitation) दिखाने के लिए शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र का इस्तेमाल किया गया है। टीम को इसकी प्रेरणा रूस के फ्रिजिसिस्ट आंद्रे जीम से मिली जिन्होंने चुंबकीय क्षेत्र की मदद से एक मेंढक को हवा में ‘तैराया’ था। जीम को इसके लिए नोबेल पुरस्कार भी मिला था।

चाइना यूनिवर्सिटी के इंजीनियर ने कहा:
चाइना यूनिवर्सिटी ऑफ माइनिंग एंड टेक्नोलॉजी के जियोटेक्नीकल इंजीनियर ली रुईलिन ने कहा कि इस वैक्यूम चैंबर को पत्थरों और धूल से भर दिया जाएगा, जैसे चांद की सतह पर होती है। चांद की ऐसी सतह पहली बार धरती पर बनाई जाएगी। इसका छोटा प्रयोग हम कर चुके हैं, जो सफल रहा है। लेकिन अगले प्रयोग में कम गुरुत्वाकर्षण शक्ति लंबे समय तब बनाए रखने के लिए इस प्रयोग को ज्यादा दिन तक चलाने का प्लान है। ली रुईलिन ने कहा कि हम यह प्रयोग पूरी तरह से सफल करने के बाद इस एक्सपेरिमेंट को चांद पर भेजेंगे। जहां पर धरती की ग्रैविटी का सिर्फ 6ठां हिस्सा ही गुरुत्वाकर्षण है।


यह भी पढ़ें

अफगानिस्तान में भूकंप के झटके, 12 लोगों की मौत, कई घायल

चांद पर एस्ट्रोनॉट भेजने का मिशन:
दरअसल, चीन का इरादा साल 2030 तक चांद पर ऐस्ट्रोनॉट भेजने का है। वह रूस के साथ मिलकर चांद पर बेस बनाना चाहता है। ऐसे में नया सिम्यूलेटर चांद के पर्यावरण को समझने और उसके हिसाब से उपकरण तैयार करने में मदद करेगा। कम गुरुत्वाकर्षण के कारण धूल और चट्टानें भी धरती की तुलना में अलग होती हैं। चांद पर वायुमंडल नहीं है और वहां तापमान भी तेजी से बदलता है।

चांद पर रिसर्च सेंटर बनाने की तैयारी में चीन:
चीन ने कहा है कि अगर वैक्यूम चैंबर का प्रयोग सफल रहा, तो इसे लूनर रोवर चांगई के अगले मून मिशन पर भेजा जायेगा। वर्ष 2019 और वर्ष 2020 में क्रमश, चीन चांगई-4 और चांगई-5 को चांद पर भेज चुका है। चांगई-5 तो चांद की सतह से सैंपल लेकर लौटा था। बता दें कि वर्ष 2029 तक चीन चांद के दक्षिण ध्रुव पर एक इंसानी रिसर्च सेंटर बनाने की योजना पर काम कर रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

गुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तारआज चंडीगढ़ की ओर कूच करेंगे किसान, बॉर्डर पर ही बिताई रात, CM भगवंत बोले- 'खोखले नारे' नहीं तोड़ सकते संकल्पवाराणसी कोर्ट में आज ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम बहस, जानें किन मुद्दों पर हो सकता है फैसलादिल्ली में आज एक बार फिर चलेगा बुलडोजर! सुरक्षा के लिए 400 पुलिसकर्मियों की मांगकांग्रेस नेता कार्ति चिंदबरम के करीबी को CBI ने किया गिरफ्तार, कल कई ठिकानों पर हुई थी छापेमारीIND vs SA सीरीज से पहले ICC ने इस युवा खिलाड़ी पर लगाया बैन, पढ़ें पूरा मामलाVIDEO: आग से एक साथ धधकी तीन गाडिय़ां, दहल गया मोहल्ला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.