Disclosure : जब ओबामा के शपथ ग्रहण में हमले की सूचना से मच गई थी अफरा-तफरी

-पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति के वक्त भी देश 9/11 हमलों और इराक और अफगानिस्तान में अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के खतरों से आशंकित था।

-सोमाली आतंकियों की धमकी से अफरा-तफरी का माहौल था (There was panic in the threat of Somali terrorists)

- ओबामा परमाणु फुटबॉल के बारे में सैन्य ब्रीफिंग लेने चले गए (Obama went to take military briefing about nuclear football)

By: pushpesh

Published: 28 Jan 2021, 12:56 AM IST

कैपिटल हिल हिंसा के बाद नए अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन का शपथ ग्रहण व्हाइट हाउस की किलेबंदी के बीच हुआ। लेकिन 2009 में भी बराक ओबामा के शपथ ग्रहण से पहले सोमाली आतंकियों की धमकी से अफरा-तफरी का माहौल था। शपथ से पहली रात ओबामा अचानक ब्लेयर हाउस में परिवार के साथ डिनर को छोडकऱ परमाणु फुटबॉल के बारे में सैन्य ब्रीफिंग लेने चले गए। परमाणु फुटबॉल, परमाणु लॉन्च कोड वाला ब्रीफकेस होता है,जो हमेशा राष्ट्रपति के साथ रहता है।

हिलेरी क्लिंटन बता रही हैं, ट्रंप को क्यों भारी पड़ा श्वेत चरमपंथ को बढ़ावा

ओबामा ने अपने हालिया संस्मरण में लिखा है कि एक सैन्य सहयोगी ने इस ब्रीफकेस से जुड़े प्रोटोकॉल बताए कि कैसे और कब इसका प्रयोग करते हैं। यानी मेरे हाथ में दुनिया को उड़ाने का हथियार था, लेकिन अमरीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति इस बात से चिंतित थे क्या कोई ऐसा करेगा? हमले की खुफिया सूचना के बाद हिलेरी क्लिंटन सहित ओबामा की टीम तत्काल एक्शन में आ गई और व्हाइट हाउस में बुश के सलाहकारों के साथ आपात बैठक की। जब ओबामा शपथ ले रहे थे, उस वक्त भी कैपिटल पर हमले की आशंका बनी हुई थी। प्रयास भी हुए, लेकिन किसी प्रकार की क्षति नहीं हुई। एक शीर्ष सुरक्षा अधिकारी रहम एमेनुअल ने ओबामा के शीर्ष रणनीतिकार डेविड एक्सलरॉड से कहा, उद्घाटन पर गंभीर खतरा है, लेकिन इस बारे में किसी को नहीं बताएं, क्योंकि खतरा अदृश्य और रहस्यपूर्ण था। इमेनुएल एक आकस्मिक योजना पर काम कर रहे थे। ओबामा ने अपनी पत्नी मिशेल को भी इस बारे में कुछ नहीं बताया।

और खतरा टल गया
इमेनुएल ने आपात स्थिति भांपते हुए सुरक्षा से जुड़ा एक नोट बनाकर डेविड से कहा, स्पीकर के ऑफिस में जाकर इसे ओबामा की जेब में रख दें। योजना के मुताबिक डेविड ने ओबामा को यह नोट थमा दिया। ओबामा ने बिना पढ़े इसे कोट की जेब में रख लिया। इसके बाद स्टेज पर आकर उन्होंने संबोधन शुरू किया, खतरा टल चुका था। संस्मरण में ओबामा लिखते हैं, मेरे लिए भी यह राहत थी कि किसी आतंकी घटना को लेकर दिया गया नोट मेरी जेब में ही रहा।

Show More
pushpesh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned