माता-पिता के जुल्म की बच्चे ने सुनाई कहानी, तो भर आईं आंखें

Dhirendra yadav

Publish: Jan, 14 2018 10:16:09 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
माता-पिता के जुल्म की बच्चे ने सुनाई कहानी, तो भर आईं आंखें

मासूम ने माता पिता के जुल्मों की कहानी सुनाई, तो सभी की आंखें भर आईं।

आगरा। माता पिता के जुल्म से तंग आकर मासूम ने घर छोड़ दिया। चाइल्ड राइट एक्टिविस्ट नरेश पारस को ट्रेन में बैठे यात्रियों ने सूचना दी कि एक किशोर अपने मां-बाप के जुल्म तंग आकर आकर घर से भाग आया है। आगरा में उसे सुरक्षित उतार लिया गया। जब इस मासूम ने माता पिता के जुल्मों की कहानी सुनाई, तो सभी की आंखें भर आईं।

मिली थी सूचना
यह ट्रेन में बैठा है और दिल्ली जा रहा है, इसे बचा लो। सर्द रात में नरेश पारस आगरा कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचे और यात्रियों के सहयोग से ट्रेन से मासूम को उतार लिया। बच्चे ने बताया कि उसकी मां ने आत्महत्या कर ली थी। सौतेली मां उसे मारती पीटती थी पिता भी जुल्म ढ़हाता है।

ये भी पढ़ें -

भाजपाइयों का पुलिस पर हल्ला बोल, बैकफुट पर आई पुलिस

पुलिस में है पिता
मासूम ओमसिंह रजावत का पिता आशीष रजावत टीकमगढ़ जिला जेल पुलिस में तैनात हैं। किशोर केंद्रीय स्कूल में कक्षा 7 में पढ़ता है। उसने आत्महत्या करने भी सोची, सुसाइड नोट भी लिखकर अपने पास रख लिया है। स्कूल से लौटते वक्त बैग वैन में डाल दिया और भाग निकला। ट्रेन से दिल्ली जा रहा था। आगरा में उसे सुरक्षित उतार लिया। उसे गलत हाथों में जाने से बचा लिया गया।

ये भी पढ़ें -

कारोबारी को जेल भेजने के मामले में दो दरोगा पर गिरी गाज

चोरी होने के बाद यहां पहुंचती है आपकी बाइक

कराई जाएगी काउंसलिंग
महफूज़ संस्था के पश्चिमी उत्तर प्रदेश समन्वयक नरेश पारस ने बताया कि आगरा में मासूम ओमसिंह रजावत को सुरक्षित उतार लिया गया। उसे गलत हाथों में जाने से बचा लिया गया है। जीआरपी के माध्यम से उसे चाइल्ड लाइन को सौंप दिया। उसकी काउंसलिंग कराकर सही फैसला लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें -

मोटिवेशनल कूड़ा बीनने वाली ये लड़की आज है प्रधानाध्यापिका

फोटोग्राफी का शौक रखते हैं, तो ये खबर आपके लिए है

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned