ताजमहल में उड़ाई जा रहीं कोरोना महामारी एक्ट की धज्जियां, फिर हो सकता है बंद

Highlights

- निर्धारित सैलानियों से ज्यादा को अतिथि बताकर सुरक्षाकर्मी दे रहे प्रवेश

- सुरक्षाकर्मियों और एएसआईकर्मियों के बीच झगड़ा

- अधीक्षण ने पुरातत्वविद महानिदेशक को भेजा पत्र

By: lokesh verma

Published: 22 Nov 2020, 03:44 PM IST

आगरा. वीकेंड पर जहां ताजमहल का दीदार करने के लिए पहुंच रहे कुछ पर्यटकों को निराश लौटना पड़ रहा है। वहीं, महामारी एक्ट का उल्लंघन कर निर्धारित संख्या पांच हजार से ज्यादा सैलानियों को प्रवेश देने का मामला सामने आया है। बता दें कि कोरोना महामारी एक्ट के तहत ऑनलाइन टिकट बुकिंग कर केवल पांच हजार सैलानियों को ही ताजमहल का दीदार करने की अनुमति दी गई है, लेकिन सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मीी और सीआईएसएफ कर्मी अतिथि बताकर ज्यादा सैलानियों को प्रवेश दे रहे हैं। इसको लेकर सुरक्षाकर्मियों और एएसआईकर्मियों के बीच विवाद भी हुआ है। जिसके बाद पुरातत्वविद अधीक्षण ने महामारी एक्ट के उल्लंघन की शिकायत को लेकर पुरातत्व महानिदेश को पत्र भेजा है।

यह भी पढ़ें- कोरोना: शादी समारोह में शामिल हो सकेंगे सिर्फ 100 लोग, बैंड-बाजा और बारात चढ़त पर भी रोक

दरअसल, एक माह से वीकेंड पर निर्धारित संख्या 5000 हजार से ज्यादा पर्यटक ताजमहल का दीदार करने पहुंच रहे हैं, जो कोरोना महामारी एक्ट का उल्लंघन है। बताया जा रहा है कि पहले कुछ लोग ऊंचे दामों पर ताज की टिकट बेच रहे थे। वहीं, अब सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी और सीआईएसएफकर्मी पर्यटकों को अपना अतिथि बताते हुए प्रवेश दिला रहे हैं। यह संख्या पांच हजार से ज्यादा हो जा रही है। बताया जा रहा है कि शनिवार को इसी को लेकर सुरक्षाकर्मियों और एएसआईकर्मियों के बीच झगड़ा हो गया था। विवाद बढ़ने पर अधीक्षण पुरातत्वविद वसंत कुमार स्वर्णकार ने महानिदेशक पुरातत्व को पत्र लिखकर मौजूदा स्थिति से अवगत कराया है।

अधीक्षण पुरातत्वविद ने बताया कि सुरक्षाकर्मी 200 से 250 लोगों को अपना अतिथि बताकर प्रवेश दिला देते हैं, जो कोरोना महामारी एक्ट का सीधा उल्लंघन है। इस स्थिति को देखते हुए ताजमहल को बंद करने पर भी फैसला लिया जा सकता है। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में ताजमहल में मात्र पांच हजार पर्यटकों को ही प्रवेश देने का नियम है, लेकिन कुछ कर्मचारी इस नियम की अनदेखी कर रहे हैं। उन्हाेंने पुरातत्व महानिदेशक को मौजूदा स्थित के बारे में बता दिया है। अब मुख्यालय जो भी निर्णय लेगा, उसी के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

निराश लौट रहे पर्यटक

बता दें कि अक्सर छुट्टी के दिनों में आगरा ताजमहल देखने वालों की संख्या में बढ़ोतरी होती है। कोरोना महामारी के चलते भीड़ को आने से रोकने के लिए टिकट सीमा भी निर्धारित कर दी गई है। रविवार सुबह और दोपहर के स्लाट के सभी 2500 टिकट शनिवार को ही बुक हो गए थे। इसलिए सुबह नौ बजे के बाद बगैर टिकट बुक कराए पहुंचे पर्यटकों को निराश लाैटना पड़ा। इसलिए ताजमहल देखने आने से पहले टूरिस्ट वेबसाइट चेक करके ही आएं। कहीं ऐसा न हो कि आप ताजमहल पहुंच जाएं और वहां टिकट न मिलने पर आपको परेशान होना पड़े।

यह भी पढ़ें- रामपुर में थानेदार बनी बेटी के चालान काटने पर हंगामा करने वाले सपा नेता काे एसपी ने किया गिरफ्तार

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned