९८ फीसदी मतदाता मानते हैं आपराधिक पृष्ठभूमि वाले नहीं बने सांसद, विधायक

९८ फीसदी मतदाता मानते हैं आपराधिक पृष्ठभूमि वाले नहीं बने सांसद, विधायक

nagendra singh rathore | Publish: Apr, 12 2019 11:24:45 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

३६ फीसदी ने कहा- उम्मीदवारों के अपराध की नहीं होती जानकारी, ८३ प्रतिशत के लिए खुद का मंतव्य तो, ५३ प्रतिशत के लिए पार्टी, ५४ प्रतिशत उम्मीदवार होता है वोट के लिए अहम

अहमदाबाद. गुजरात के ९८ फीसदी मतदाता मानते हैं कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले लोग लोकसभा-विधानसभा में सांसद-विधायक बनकर नहीं पहुंचने चाहिए। हालांकि इसमें से ४२ फीसदी ने यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता कि प्रत्याशियों के अपराधों के बारे में जानकारी मिल सकती है।
३८ फीसदी मानते हैं कि ऐसे लोगों की ओर से अच्छे काम किए गए होते हैं, जिससे वह जीत जाते हैं, जबकि ३७ फीसदी मानते हैं कि वह काफी पैसा खर्च करते हैं, इसलिए जीतते हैं। ३६ फीसदी का मानना है कि ऐसे लोगों की जीत में धर्म और जातिगत समीकरण अहम हैं। ३६ फीसदी कहते हंै कि अपराध गंभीर प्रकार के नहीं होते इसलिए जीतते हैं जबकि ३६ प्रतिशत को उनके अपराधों के बारे में पता ही नहीं होता। ३४ फीसदी मानते हैं कि ऐसे उम्मीदवार काफी शक्तिशाली होते हैं इसलिए जीत जाते हैं।
यह तथ्य गुजरात की सभी २६ लोकसभा सीटों पर १३ हजार मतदाताओं से जानी उनकी राय के आधार पर एडीआर की ओर से तैयार की गई सर्वे रिपोर्ट २०१८ में सामने आए हैं।
अपनी कीमती मत (वोट) किसको देना है यह तय करने में ८३ प्रतिशत मतदाताओं के लिए उनकी व्यक्तिगत राय महत्वपूर्ण होती है, जबकि सात प्रतिशत परिवार, पांच प्रतिशत के लिए उनके पति-पत्नी की राय अहम होती है। ५३ प्रतिशत के लिए पार्टी जबकि ५४ प्रतिशत के लिए उम्मीदवार अहम होता है।

शराब, पैसे, उपहार का मतदान पर होता है असर
एडीआर की सर्वे रिपोर्ट में सामने आया कि २० प्रतिशत मतदाता मानते हैं कि मतदान पर शराब, पैसे और उपहार का असर होता है। ८० प्रतिशत ने कहा कि उनके लिए मतदान करने को यह महत्वपूर्ण नहीं है, जबकि छह प्रतिशत इसे बहुत महत्वपूर्ण, १४ प्रतिशत महत्वपूर्ण भी मानते हैं।
६४ प्रतिशत मतदाताओं को यह जानकारी भी है कि पैसे, गिफ्ट देना गैरकानूनी है। ३५ प्रतिशत ने यह भी स्वीकार किया कि बीते चुनाव में ऐसी गैरकानूनी प्रवृत्ति हुई थी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned