Ajmer : ख्वाजा साहब की दरगाह में कोरोना से लड़ेगा कोविडकोट, दरगाह कमेटी ने कराई विशेष कोटिंग

ajmer dargah news : विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में कोरोना से बचाव के लिए कोविडकोट का प्रयोग किया गया है। दरगाह में प्रबंध संभालने वाली दरगाह कमेटी ने दरगाह परिसर को कोविडकोट से शिल्ड कवर करवाया है।

By: Yuglesh kumar Sharma

Updated: 15 Sep 2020, 02:11 AM IST

अजमेर. विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह (dargah) में कोरोना से बचाव के लिए कोविडकोट का प्रयोग किया गया है। दरगाह में प्रबंध संभालने वाली दरगाह कमेटी (dargah committee) ने दरगाह परिसर को कोविडकोट से शिल्ड कवर करवाया है। यह एक एंटी वायरस नैनो टेक्नोलॉजी है। परिसर में इस कोविडकोट का प्रभाव करीब 90 दिन तक रहेगा। दावा है कि इस दौरान परिसर को सेनेटाइज्ड करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कोरोना पॉजिटिव अगर छू भी लेता है तो कोटिंग किया गया स्थान पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा। हालांकि सोशल डिस्टेंस, मास्क लगाने सहित सभी सरकारी नियमों की पालना दरगाह में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को करनी होगी।

जायरीन की सुरक्षा जरूरी

दरगाह के कार्यवाहक नाजि़म डॉ. मोहम्मद आदिल ने बताया कि सरकारी गाइड लाइन की पालना करते हुए ख्वाजा साहब की दरगाह को 7 सितम्बर से आम जायरीन के लिए खोल दिया गया है। दरगाह कमेटी का प्रयास है कि कोरोना से बचाव के लिए दरगाह परिसर को पूरी तरह से स्वच्छ और सुरक्षित रखा जाए। इसी क्रम में राष्ट्रीय परीक्षण और अंशशोधन प्रयोगशाला प्रत्यायन बोर्ड एवं यूनाइटेड स्टेट्स की इन्वायरमेंटल प्रोटेक्शन एजेन्सी से स्वीकृत अंकरिक्ष इंजिनियरिंग फर्म से दरगाह परिसर में उक्ट कोटिंग कार्य करवाया गया है। यह सतह पर सेल्फ डिसइन्फेक्टिव प्रोपर्टी पैदा कर देता है। इससे सतह पूरी तरह से वायरस प्रूफ हो जाती है। यह सारे उपाय सुरक्षा और सावधानी के लिए किए जा रहे हैं।

नॉन एल्कोहलिक
बताया जा रहा है कि उक्त कोविडकोट का उपयोग राष्ट्रपति भवन, उत्तर प्रदेश की रोड़वेज बसों, जयपुर के विद्युत भवन आदि स्थानों पर भी किया जा चुका है। यह पूरी तरह से नॉन एल्कोहलिक है।

जायरीन की सुरक्षा पहली प्राथमिकता-अमीन पठान

कोरोना वायरस के बचाव और सावधानी दरगाह कमेटी की पहली प्राथमिकता है। हमारा प्रयास है कि यहां आने वाला हर जायरीन नियमों की पालना करते हुए ख्वाजा साहब की दरगाह में हाजिरी दे। सभी जायरीन स्वस्थ्य और सुरक्षित अपने घर लौटें।

-अमीन पठान, चेयरमैन दरगाह कमेटी अजमेर

Show More
Yuglesh kumar Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned