Locust: टिड्डी दल पहुंचा पुष्कर, किसानों की उड़ी नींद

राजस्थान में जैसलमेर-श्रीगंगागर होते हुए टिड्डियां अजमेर जिले तक पहुंच गई हैं।

By: raktim tiwari

Published: 10 May 2020, 04:42 PM IST

अजमेर

. हजारों तादाद में टिड्डी दल रविवार को पुष्कर और आसपास के इलाकों में पहुंच गया। इससे किसानों की नींद उड़ गई। किसान फसलों को टिड्डी से बचाने के जतन में लग गए हैं।

लाखो की संख्या में टिड्डी दल पुष्कर के निकटवर्ती तिलोरा और कड़ैल गांव में नजर आया।
खेतों में टिड्डियां देखते ही किसानों की चिंता बढ़ गई।

फसलें चौपट होने की आशंका
हजारों टिड्डियों के खेतों में मंडराने से किसानों को फसलें चौपट होने की आशंका है। रविवार को कई किसान खेतों में लोहे के चादर पीटक और धुआं कर टिड्डियों को भगाते दिखे। मालूम हो कि राजस्थान में जैसलमेर-श्रीगंगागर होते हुए टिड्डियां अजमेर जिले तक पहुंच गई हैं।

Read More: Patrika lock down diaries: ऑनलाइन पढ़ाई के साथ लिखने-पढऩे का समय

3 हजार स्कूल में होगी कॉपियों की जांच

अजमेर. सीबीएसई की दसवीं-बारहवीं की कॉपियों के मूल्यांकन के लिए देश में 3 हजार स्कूल का चयन किया गया है। गृह मंत्रालय के निर्देशों के बाद इनमें मूल्यांकन कराया जाएगा।बोर्ड पहली से आठवीं और नवीं तथा ग्यारहवीं कक्षा तक विद्यार्थियों को अगली कक्षाओं के लिए प्रोमोट करने के आदेश जारी कर चुका है।

बारहवीं के 29 विषयों और दिल्ली रीजन में दसवीं में बकाया परीक्षा 1 से 15 जुलाई के बीच होंगी। तीन हजार स्कूल का चयनकेंद्रीय गृह विभाग के संयुक्त सचिव संजीव कुमार जिंदल ने बताया कि विद्यार्थियों की कॉपियों की जांच 20 मार्च से अटकी है। लॉकडाउन के कारण केंद्रीयकृत मूल्यांकन मुश्किल हो रहा है। इसको देखते हुए ३ हजार स्कूल का चयन किया गया है। यह रेड, ग्रीन और ऑरेन्ज जोन में हैं।

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से सीबीएसई सहित सभी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं और कॉपियों के मूल्यांकन पर चर्चा की थी। खासतौर पर सीबीएसई की 1.5 करोड़ से ज्यादा कॉपियां जंचनी हैं।

Read More: RPSC JLO Exam: 458 अभ्यर्थियों के होंगे इन्टरव्यू, करना होगा ये काम

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned