World Tourism Day: पर्यटकों को लुभाएंगे अजमेर के नए टूरिस्ट पॉइंट

अब तक धार्मिक पर्यटन ज्यादा रहा है अजमेर में। अब कई नए पर्यटन स्थल बनकर हो रहे हैं तैयार।

By: raktim tiwari

Updated: 27 Sep 2021, 04:46 PM IST

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

अक्सर यह समझा-माना जाता है, कि अजमेर में विदेशी और देशी पर्यटक रुकते नहीं है। अरावली की खूबसूरती, आनासागर-फायसागर झील, किला-संग्रहालय होने के बावजूद पर्यटन गतिविधियां सीमित है। लेकिन जल्द अजमेर पर्यटकों को लुभाता दिखेगा। नए टूरिस्ट पॉइंट के बूते पर्यटकों की आवाजाही बढ़ेगी।

अजमेर में ख्वाजा साहब की दरगाह-तारागढ़, आनासागर बारादरी, नारेली, सोनीजी की नसियां देखने देशी पर्यटक ज्यादा आते हैं। पुष्कर विदेशी सैलानियों की पसंदीदा जगह है। यहां फ्रांस, जर्मनी, इटली, इजरायल, स्पेन, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया सहित कई देशों के पर्यटकों की साल भर आवाजाही रहती है। इनमें से 99 प्रतिशत पर्यटक अजमेर नहीं रुकते हैं। लेकिन अब अजमेर में देशी और विदेशी मेहमानों के लिए नए टूरिस्ट पॉइंट तैयार हो रहे हैं।

1-लुभाएंगे सेवन वंडर्स
वैशाली नगर में आनासागर झील के निकट सेवन वंडर्स पॉइंट बनाया जा रहा है। यहां फ्रांस का एफिल टावर, इटली का कोलोजियम, मिस्र के पिरामिड सहित अन्य मॉडल बन रहे हैं। यह पॉइंट बनने के बाद देशी पर्यटकों को परदेस और विदेशी पर्यटकों को एकबारगी अपने वतन में होने का एहसास होगा

2-म्यूजिकल फाउन्टेन
आनसागर झील में गौरव पथ-पुरानी चौपाटी और रीजनल कॉलेज के सामने नई चौपाटी पर म्यूजिकल फाउन्टेन लगाए गए हैं। पुरानी चौपाटी के निकट म्यूजिकल फाउन्टेन तो शुरू हो चुका है। इसकी खूबसूरती देखने और संगीतमय धुनें सुनने देशी पर्यटक पहुंचने लगे हैं। 3-थ्रीडी प्रोजेक्शन शो
स्टेशन रोड पर कभी बदहाल रहने वाला किंग एडवर्ड मेमोरियल की काया-कल्प हो चुकी है। यहां थ्रीडी प्रोजेक्शन मैपिंग शो शुरू किया गया है। यहां अजमेर सहित राजस्थान के इतिहास, संस्कृति की जानकारी मिलेगी। विदेशी और देशी पर्यटकों को इसकी भव्यता पसंद आएगी।

4-सन राइज-सनसेट सेल्फी पॉइंट
आनासागर झील और अरावली के पहाड़ अजमेर की शान हैं। गौरव पथ और रीजनल कॉलेज चौपाटी पर सनराइज- सनसेट सेल्फी पॉइंट बनाए गए हैं। यहां प्रत्येक शनिवार-रविवार और सर्दी-बरसात के सीजन में देशी पर्यटकों का जमावड़ा रहने लगा है।

5-झील की चारों ओर पाथ वे
आनासागर झील के चारों ओर पाथ-वे निर्माणाधीन है। यह पूरा होने के बाद स्थानीय लोगों और देशी-विदेशी पर्यटकों को झील की सुंदरता, पक्षियों का कलरव निकट से देखने का अवसर मिलेगा। खासतौर पर जैव विविधता पर शोध करने वाले रिसर्च स्कॉलर के लिए यह फायदेमंद साबित होगा।

6-खूबसूरत बर्ड पार्क
सागर विहार कॉलोनी-वैशाली नगर में राजस्थान पत्रिका की पहल पर खूबसूरत बर्ड पार्क बनाया गया है। इसमें आनासागर झील में रहने वाले स्पॉट बिल डक, आईबिस, कॉमन मैना, परपल ग्रे हेरॉन, इग्रेट (व्हाइट ग्रे), मूरहेन, मैलार्ड, कॉमन टील, रफ, किंगफिशर, स्पून बिल, स्पॉट बिल्ड डक, नॉर्दन शॉवलर सहित 50 से अधिक पक्षियों की प्रजातियों को देखा जा सकता है। यह भरतपुर की केवलादेव सेंचुरी की तर्ज पर टूरिस्ट हब बन सकता है।

7-ओपन थियेटर और कला दीर्घा
जयपुर के जवाहर कला केंद्र की तर्ज पर सूचना केंद्र में ओपन थियेटर बनाया गया है। यहां देशी-विदेशी कलाकार, रंगमंच से जुड़े लोग रात को भी प्रस्तुतियां दे सकते हैं। जल्द कला दीर्घा भी तैयार हो रही है।

अब टूरिस्ट मैप में होगा शामिल
पर्यटन विभाग की मानें तो उदयपुर, जोधपुर, जैसलमेर, जयपुर की तरह अजमेर पिछले 74 साल में देश के टूरिस्ट मैप में जगह नहीं बना पाया है। दिल्ली अथवा बड़े शहरों में विदेशी पर्यटकों के लिए निजी टूर-ट्रेवल कंपनियां टूरिस्ट प्लान बनाती हैं। लेकिन नए टूरिस्ट पॉइंट से अजमेर जल्द टूरिस्ट मैप में शामिल होगा। पिछले तीन-चार महीने में वीकेंड हॉली-डे के दौरान 3.50 लाख पर्यटक अजमेर पहुंचे। इनमें से 2 लाख से ज्यादा पर्यटकों ने दो दिन अजमेर में बिताए।

फैक्ट फाइल..

जिले में पर्यटन से संचालित गतिविधियां-5.5 प्रतिशत
पर्यटन से नौकरियां-5 से 8 हजार
विदेशी पर्यटकों से आय-19.1 से 24.2 प्रतिशत
देशी पर्यटकों से आय-35.2 से 55.1 प्रतिशत
(स्त्रोत-राजस्थान पर्यटन विकास निगम)

यह भी बन सकते हैं नए पॉइंट
तारागढ़ पर रेलवे के खंडहर भवन में बने होटल या सर्किट हाउस
-होकरा-माकड़वाली से सटे धोरों में कैंप टूरिज्म
-तारागढ़-नागपहाड़, हैप्पी वैली में पर्वतारोहण
-बांडी नदी पर बने अहमदाबाद की साबरमती रिवर फ्रंट

अजमेर में पर्यटन विकास की असीम संभावनाएं हैं। सेवन वंडर्स, म्यूजिकल फाउन्टेन, सेल्फी पॉइंट के अलावा अरावली पर ट्रेकिंग, नाइट कैंप टूरिज्म, तारागढ़ पर होटल-रेस्टोरेंट बनाकर माउन्टेन टूरिज्म को बढ़ावा दिया जा सकता है। इससे लोकल और विदेशी पर्यटक बढ़ेंगे। साथ में अजमेर पर्यटन हब बन सकेगा।
प्रो. निमित्त रंजन चौधरी, विभागाध्यक्ष टूरिज्म एंड हॉस्पिटेलिटी मैनेजमेंट जामिया मिलिया

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned