मुन्ना बजरंगी की हत्या का केस सीबीआई कोर्ट का ट्रांसफर, हाईकोर्ट ने दिया आदेश

  • मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह की याचिका पर कोर्ट ने सीबाआई को सौंपी थी जांच
  • जांच कर रही सीबीआई ने कोर्ट से मामले को सीबीआई कोर्ट में ट्रांसफर करने की की थी अपील
  • सीबीआई की अपील पर सुनवायी करते हुए इलाहाबद हाईकोर्ट ने दिया आदेश

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बागपत जेल में मुख्तार अंसारी के शार्प शूटर कहे जाने वाले प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की हुई हत्या का केस सीबीआई कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया है। मुन्ना बजरंगी की हत्या बागपत जेल में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के माफिया सुनील राठी द्वारा कर दी गई थी। कोर्ट ने बजरंगी की हत्या के आरोपी सुनील राठी के खिलाफ आपराधिक मुकदमे को गाजियाबाद सीबीआई कोर्ट में ट्रांसफर करने का निर्देश दिया है। जस्टिस सुनीत कुमार की कोर्ट ने यह आदेश मामले की जांच कर रही सीबाआई की अर्जी को स्वीकार करते हुए दिया है। कोर्ट ने मुकदमे की पूरी पत्रावली सीबीआई की विशेष अदालत में भेजे जाने को कहा है।

 

बताते चलें मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद उनकी पत्नी सीमा सिंह की ओर से कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी, जिस पर सुनवायी करने के बाद कोर्ट ने हत्याकांड की जांच सीबीआई को सौंपते हुए मुन्ना बजरंगी को 12 घंटे के भीतर बागपत जेल भेजे जाने और जेल में उसकी हत्या का षड़्यंत्र रचे जाने की विस्तृत जांच का आदेश दिया था। सीबीआई ने केस को अपने हाथ में लेने के बाद कोर्ट से मामले को सीबीआई की अदालत में ट्रांसफर करने की अपील की थी, जिसे मानते हुए कोर्ट ने निर्देश दिया है।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned