scriptThese imp instructions for people keeping dogs of Nagar Nigam Prayagra | प्रयागराज नगर निगम का तगड़ा एक्शन, पालतू कुत्तों को सड़को और पार्कों में ले जाने से पहले रखें इन बातों ध्यान, नहीं तो होगें जुर्माने का शिकार | Patrika News

प्रयागराज नगर निगम का तगड़ा एक्शन, पालतू कुत्तों को सड़को और पार्कों में ले जाने से पहले रखें इन बातों ध्यान, नहीं तो होगें जुर्माने का शिकार

locationप्रयागराजPublished: Dec 09, 2023 11:27:40 am

Submitted by:

Pravin Kumar

प्रयागराज नगर निगम ने पालतू कुत्तों द्वारा सड़कों पर की जाने वाली गंदगी को नियंत्रित करने के लिए सख्त कदम उठाया है। अब यदि कोई इस कानून का उल्लंघन करता है, तो उसे 10 या 20 रूपए का नहीं, बल्कि इतना जुर्माना भुगतना होगा। जानिए इस प्रस्ताव की मंजूरी का इंतजार कर रहे नगर निगम के कदमों के बारे में और शहर को स्वच्छता की दिशा में बढ़ावा मिलने की आशा है।

nagar_nigam_pet_news.jpg
प्रयागराज नगर निगम ने शक्तिशाली कदम उठाया है और सुनिश्चित किया की कड़ी कार्रवाई की जाएगी है कि शहर की सड़कों पर पालतू कुत्तों द्वारा कराई गईं गन्दगी करने वालों को जुर्माना देना पड़ेगा। यदि कोई अपने पालतू कुत्ते को सड़क पर ले जाता है, तो उसे ध्यान रखना चाहिए कि यह जुर्माना उसे 10 या 20 रूपए का नहीं, बल्कि 500 से 1000 रुपए का जुर्माना भुगतना पड़ेगा।
नगर निगम ने पालतू कुत्तों की बढ़ती संख्या और सड़कों व पार्कों में उनके द्वारा की जाने वाली गंदगी को देखते हुए एक नया प्रस्ताव तैयार किया है। इस प्रस्ताव के अनुसार, जुर्माना वसूलने की प्रक्रिया को तेजी से शुरू किया जाएगा। नगर निगम और पशुपालन विभाग ने इसे सदन के माध्यम से मंजूरी प्राप्त करने के लिए प्रयासरत हो रहे हैं और यह आशा की जा रही है कि इसे वित्तीय वर्ष में पास करके तत्काल लागू किया जा सकेगा।
समर्थन को बढ़ाने के लिए, नगर निगम ने शहरवासियों से सहायता मांगी है और उन्हें शिकायत करने के लिए एक कंट्रोल रूम स्थापित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए एक नंबर भी जारी किया जाएगा, जिसका उपयोग शिकायतें करने के लिए किया जा सकेगा।
यह भी बताया जा रहा है कि सदन की अगली बैठक में इस प्रस्ताव पर मोहर लग सकती है और जल्द ही इसे पूरे कानूनी रूप से लागू किया जा सकता है। इससे शहर के लोगों को सफाई और हवा की शुद्धता के साथ-साथ एक सुरक्षित और स्वस्थ जीवन का आनंद उठाने का मौका मिल सकता है।
अप्रैल से पहले ही पालतू कुत्तों के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो गई है और इस प्रक्रिया के दौरान शहर में 20 हज़ार से अधिक पालतू कुत्तों में से केवल 518 कुत्ते ही रजिस्टर किए गए हैं। इससे साफ है कि लोग इस नए कदम को समर्थन देने में अच्छी तरह से सक्षम नहीं हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो