लाखों की फर्जकारी के मामले मेें पीडित ने लगाई गुहार, थाना पुलिस पर लगाए यह आरोप

लाखों की फर्जकारी के मामले मेें पीडित ने लगाई गुहार, थाना पुलिस पर लगाए यह आरोप

Prem Pathak | Publish: Jul, 14 2018 11:54:38 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

फर्जी कागजात बनाकर वाहन हड़पने का मामला दर्ज

किशनगढ़बास. फर्जी कागजात बनाकर वाहन खरीदने को लेकर एक व्यक्ति ने इस्तगासे के जरिए मामला दर्ज कराया है।
पुलिस ने बताया कि तिजारा के गांव हमीराका निवासी हाकमदीन पुत्र कमाल मेव ने न्यायालय अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट किशनगढ़बास जिला अलवर के समक्ष एक इस्तगासे पेश कर किशनगढ़बास थाने में मामला दर्ज किया गया है। पीडि़त हाकमदीन मेव ने दर्ज कराया कि उसने वाहन को 16 लाख रुपए में अपने ही गांव के मोहम्मद तारिफ पुत्र आसू मेव को बेचान करना तय कर 3 लाख रुपए की राशि 17 अगस्त 2017 को लेकर वाहन उसे सौंप दिया था। इसके बाद 17 नवम्बर 2017 तक शेष राशि को अदायगी का वादा किया गया था। समय पूरा होने के बाद भी मोहम्मद तारिफ द्वारा शेष राशि को नहीं दिया गया और वाहन चलाकर कमाई करता रहा। जब इस संबंध में पीडि़त द्वारा शेष राशि का जिक्र किया गया तो जवाब के रूप में तारीफ टालम-टोल करता रहा। जिसको लेकर पीडि़त ने तिजारा थाने में मामले की शिकायत की गई तो तारीफ मेव ने पुलिस के साथ मिलकर राजीनामे का दबाव बनाते रहे। जब गाड़ी तलाश की उसका अलवर में सुराग मिला। इसके बाद हमने वहां से लेकर गाड़ी को अलवर ही एक पार्किंग में खड़ा कर दिया। जब दूसरे दिन गाड़ी लेने पहुंचे तो तारीफ व तिजारा पुलिस गाड़ी लेने के लिए पहुंची और गाड़ी के कागजात तारीफ नाम होना बताकर पुलिस ने गाड़ी आरोपी को सुपुर्द कर दी। जब मामला दर्ज कराने पीडि़त तिजारा थाने में पहुंचा तो थानाप्रभारी ने किशनगढ़बास थाने में मामला दर्ज कराने की बात कही। थाना प्रभारी किशनगढ़बास ने उसे अलवर के एनईबी थाने में मामले को दर्ज कराने के लिए कहा। पीडि़त एनईबी थाने पहुंचा तो थाना प्रभारी ने मामले को वहां पर दर्ज करने से मना कर दिया। मामले में एसपी अलवर, पुलिस महानिदेशक जयपुर व मुख्यमन्त्री के नाम रजिस्टर्ड डाक से रिपोर्ट दर्ज कराने की गुहार लगाई गई, मगर मामले में किसी प्रकार की गंभीरता नही दिखाई गई। जिस पर पीडि़त ने न्यायालय के समक्ष न्याय की गुहार लगाई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned