इस वजह से रोकनी पड़ी अलवर सेना भर्ती,अभ्यर्थी हुए ठंड़ में परेशान

इस वजह से रोकनी पड़ी अलवर सेना भर्ती,अभ्यर्थी हुए ठंड़ में परेशान

Rajeev Goyal | Updated: 07 Jan 2018, 11:28:02 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

- दूसरे दिन 6960 अभ्यर्थियों में से 5349 ने लगाई दौड़- आज किशनगढ़बास व बानसूर के दौड़ेंगे अभ्यर्थी



अलवर. इंदिरा गांधी स्टेडियम में चल रही सेना भर्ती रैली में शनिवार को सर्द रात में छाया घना कोहरा बाधा बना। कोहरे के बीच कुछ भी दिखाई नहीं देने के कारण भर्ती बीच में करीब चार घंटे तक रोकनी पड़ी। सेना के अधिकारियों ने स्टेडियम का मुख्य द्वार बंद करा दिया।

इस दौरान सर्द रात में ठिठुरते हुए अभ्यर्थियों ने अपनी बारी का इंतजार किया। इस बार भर्ती में अभ्यर्थी एक नहीं दो परीक्षाओं से गुजर रहे है। एक कडाके की ठंड से सामना दूसरी सेना की परीक्षा। करीब चार घंटे बाद कोहरे के छंटने पर फिर से भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई, तब जाकर अभ्यर्थियों को स्टेडियम में प्रवेश दिया गया। शनिवार को मुण्डावर व लक्ष्मणगढ़ के अभ्यर्थियों की भर्ती हुई। जिसमें 6960 अभ्यर्थियों में से 5349 अभ्यर्थी दौड़ में शामिल हुए। भर्ती के लिए 21 बैच बनाए गए। सबसे पहले अभ्यर्थियों की 1600 मीटर की दौड़ हुई, जिसे 5 मिनट 40 सैकण्ड में पूरा करना था। इसमें सफल अभ्यर्थियों का बीम, बैलेन्स, लम्बी कूद आदि का टेस्ट हुआ। उधर, स्टेडियम में पहले दिन की भर्ती के सफल अभ्यर्थियों का मेडिकल व दस्तावेज सत्यापन का काम भी चलता रहा। सेना भर्ती अधिकारी मोहनेश सिंह ने बताया कि सफल अभ्यर्थियों के मेडिकल के लिए 7 मेडिकल ऑफिसर लगाए गए। पहले दिन 280 सफल अभ्यर्थियों का मेडिकल हुआ। रविवार को किशगनढ़बास व बानसूर के अभ्यर्थियों की भर्ती होगी।

सुबह 10 बजे फिर शुरू हुई भर्ती प्रक्रिया

शनिवार को सेना भर्ती पर कोहरा भारी रहा। इस दिन सुबह चार बजे स्टेडियम में भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई, लेकिन दो घंटे बाद एकाएक ही कोहरा छा गया। कोहरे में कुछ भी दिखाई नहीं देने पर सैन्य अधिकारियों ने भर्ती प्रक्रिया रोक दी। इसके बाद सुबह 10 बजे कोहरे के छंटने पर भर्ती प्रक्रिया पुन: शुरू हुई।

- कोहरे के कारण शनिवार को करीब चार घंटे के लिए भर्ती प्रक्रिया रोकनी पड़ी। इसके बाद फिर प्रक्रिया शुरू हुई और शेष रहे अभ्यर्थियों की दौड़ आदि कराई गई।

मोहनेश सिंह, सेना भर्ती अधिकारी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned