एनएच पर पैच रिपयेरिंग में अधिकारियों से सेटिंग कर ठेकेदारों ने लाखों रुपए किए गबन, PWD सचिव से कार्रवाई की अनुशंसा

Road scam: अंबिकापुर-रामानुजगंज-गढ़वा राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway) पर बीटी पैच रिपेयरिंग के लिए दो ठेका कंपनियों को जारी किया गया था वर्क ऑर्डर (Work order), जांच में गड़बड़ी का हुआ खुलासा

By: rampravesh vishwakarma

Published: 14 May 2021, 02:51 PM IST

अंबिकापुर. अंबिकापुर-रामानुजगंज -गढ़वा राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 343 पर अलग-अलग तिथि में शहर ही दो ठेका कंपनियों (Contract companies) को बीटी पैच रिपेयरिंग कार्य का जिम्मा दिया गया था। ठेका कंपनियों ने एनएच के अधिकारियों से सेटिंग कर रिपेयरिंग में काफी गड़बडिय़ां की और पूरा भुगतान प्राप्त कर लिया।

शिकायत पर जब मामले की जांच की गई तो गड़बड़ी (Scam) का खुलासा हुआ। इस मामले में पीडब्ल्यूडी के प्रमुख अभियंता ने मुख्य सचिव पीडब्ल्यूडी मंत्रालय को जांच प्रतिवेदन सौंपकर एनएच के अधिकारियों व ठेकेदारों पर कार्रवाई की अनुशंसा की है। इधर अधिवक्ता व आरटीआई एक्टिविस्ट डीके सोनी ने शुक्रवार को कोतवाली में आवेदन देकर अधिकारियों एवं ठेकेदारों पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। (Road Scam)

Read More: सरकारी जमीन बेचने वाले PWD के 2 ENGINEER गए JAIL


कोतवाली में दिए गए आवेदन में डीके सोनी (DK Soni) ने बताया है कि कार्यालय कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग राष्ट्रीय राज्य मार्ग संभाग कार्यालय अंबिकापुर द्वारा 4 जून 2019 को मेसर्स आरके इंफ्रास्ट्रक्चर हॉस्पिटल रोड दर्रीपारा अंबिकापुर को बीटी पैच रिपेयरिंग का वर्क आर्डर अंबिकापुर से रामानुजगंज गढ़वा रोड हेतु जारी किया गया था।

पीएसी 94.62 लाख रुपए का वर्क आर्डर तथा टोटल कंटेंट 64.99 लाख रुपए का था, उक्त कार्य को 15 दिसंबर 2019 तक पूर्ण करना था। इसी प्रकार 22 अगस्त 2019 को गौरी कंस्ट्रक्शन कंपनी संगम चौक गौरी भवन अंबिकापुर को बीटी पैच रिपेयरिंग का वर्क आर्डर अंबिकापुर से रामानुजगंज गढ़वा रोड हेतु जारी किया गया था। इसका पीएसी 144.95 लाख रुपए का वर्क आर्डर तथा टोटल कॉन्टेंट 95.48 लाख का था।

उक्त कार्य को 1 माह के अंदर पूर्ण करना था। उपरोक्त दोनों कार्य की जांच हेतु थर्ड पार्टी निरीक्षण दल का गठन किया गया। निरीक्षण दल द्वारा 10 जून 2020 को सभी अधिकारियों की उपस्थिति में जांच की गई, जिसमें काफी त्रुटि पाई गई, कई स्थानों पर मार्ग तथा पैच क्षतिग्रस्त होना पाया गया।

Read More: Home Minister पर लगाया गड़बड़ी का आरोप तो दर्ज हो गई FIR!

जांच रिपोर्ट में इन बातों का स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है। इसके अलावा प्रमुख अभियंता लोक निर्माण विभाग (PWD) द्वारा सचिव छत्तीसगढ़ शासन लोक निर्माण विभाग मंत्रालय रायपुर को 27 जनवरी 2021 को जांच प्रतिवेदन मय पत्र भेजा गया, जिसमें उपरोक्त तथ्यों के अलावा अनुशासनात्मक कार्रवाई की अनुशंसा की गई है।

इस आधार पर अधिवक्ता डीके सोनी ने कहा कि शासकीय राशि का गबन एक आपराधिक कृत्य है, इसलिए संबंधित अधिकारियों व ठेकेदारों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए।

Read More: ये तस्वीर किसी गांव की सडक़ की नहीं बल्कि नेशनल हाइवे की है, जिम्मेदारों को ये देखकर शर्म भी नहीं आती


पैच रिपेयरिंग में यहां थीं खामियां
थर्ड पार्टी निरीक्षण दल द्वारा मार्ग पर किमी 5/2 से किलोमीटर 72/6 तक के अधिकांश मार्ग में बीटी पैच क्षतिग्रस्त होना पाया गया। इसी प्रकार अनुबंध अपूर्ण होने के कारण माप पुस्तिका में माप दर्ज नहीं होने के कारण मात्रा का सत्यापन नहीं हो सका है। मार्ग के किलोमीटर 42/4, 43/8, 45/6, 45/8, 59/8, 59/6, 60/2, 63/6, 63/8, 84/6, 87/2, 96/2, 102/8, 104/6, 107/4, 107/6, में बीटी पैच रिपेयर का कार्य कराया गया था जो कि वर्तमान में पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुका है।

Read More: अधूरे काम के बाद भी रायपुर की ठेका कंपनी को 27.68 लाख का पूरा भुगतान, कमिश्नर ने कलक्टर को दिए जांच के निर्देश


अधिकारियों द्वारा पूरी राशि का किया गया भुगतान
थर्ड पार्टी निरीक्षण दल के द्वारा 10 जून 2020 को भी संयुक्त जांच की गई, जिसमें आरके इंफ्रास्ट्रक्चर बी क्लास के द्वारा अंबिकापुर रामानुजगंज से गढ़वा नेशनल हाइवे (Ambikapur-Ramanujganj National Highway) में मरम्मत संरक्षण एवं अन्य सुरक्षात्मक सांकेतिक कार्य किए गए थे, जिसके लिए 56.73 लाख रुपए का अनुबंध भी हुआ था जिसका भुगतान भी हो गया है।

उपरोक्त दोनों वर्क आर्डर के आधार पर ठेकेदारों को उपरोक्त बीटी पैच रिपेयरिंग का कार्य करना था, लेकिन ठेकेदारों द्वारा अधिकारियों से मिलीभगत कर उपरोक्त बीटी पैच के कार्य (BT patch reparing) में लीपा-पोती की गई और उपरोक्त बगैर पूरी राशि निकाली गई।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned