Nobel Prize in Literature 2020: कौन हैं लुईस ग्लूक जिन्होंने जीता साहित्य का नोबेल

HIGHLIGHTS

  • Nobel Prize in Literature 2020: अमरीका की रहने वाली कवयित्री लुईस ग्लक को साल 2020 के साहित्य का नोबेल के लिए चुना गया है।
  • वर्तमान समय में लुईस येल यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी की प्रोफेसर हैं। वह स्वतंत्र रूप से लिखने के अलावा वे येल, न्यू हैवेन और कनेक्टिकट यूनिवर्सिटी में भी अंग्रेजी की प्रोफेसर रही हैं।

By: Anil Kumar

Updated: 08 Oct 2020, 07:21 PM IST

वाशिंगटन। अमरीका की रहने वाली कवयित्री लुईस ग्लक को साल 2020 के साहित्य का नोबेल ( Louise Gluck Won Literature Nobel 2020 ) के लिए चुना गया है। ‘स्वीडिश अकेडमी ऑफ साइंसेज' के पैनल ने गुरुवार को इसकी घोषणा की।

नोबेल पुरस्कार जीतने वाली लुईस ग्लक को स्वर्ण पदक और एक करोड़ स्वीडिश क्रोना (करीब 8.20 करोड़ रुपये) की राशि दी जाएगी। इससे पहले 77 वर्षीय लुईस ग्लक कई अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुकी हैं।

Nobel Prize in Literature 2020: अमरीका की लुईस ग्लक को मिला साहित्य का नोबेल

न्यूयॉर्क में हुआ जन्म

आपको बता दें कि लुईस ग्लक का जन्म अमरीका के न्यूयॉर्क में 22 अप्रैल 1943 को हुआ था। वह कैम्ब्रिज और मैसाचुसेट्स में रहती हैं। लुईस के दादा-दादी हंगरी के रहने वाले थे जो बाद में अमरीका आ गए और यहीं पर उनके पिता का जन्म हुआ था।

लुईस के पिता डैनियल ग्लक एक व्यवसायी थे, जबकि उनकी मां वेलेस्ले कॉलेज से स्नातक थीं। ग्लक बचपन से ही अपने माता-पिता से ग्रीक पौराणिक कथाएं सुनते आ रही थीं, जिससे प्रेरित होकर वह छोटी से उम्र से ही कविता लिखनी शुरू कर दी थी।

कई अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुकी हैं लुईस

बता दें कि वर्तमान समय में लुईस येल यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी की प्रोफेसर हैं। वह स्वतंत्र रूप से लिखने के अलावा वे येल, न्यू हैवेन और कनेक्टिकट यूनिवर्सिटी में भी अंग्रेजी की प्रोफेसर रही हैं। इसके पहले उन्हें पुलित्जर सहित कई और पुरस्कार मिल चुके हैं।

कविता के लिए पुलित्जर पुरस्कार (1993)
बोलिंजिंग पुरस्कार (2001)
यूएस कवि लॉरेट (2003-2004)
राष्ट्रीय पुस्तक पुरस्कार (2014)
राष्ट्रीय मानविकी पदक (2015)
साहित्य में नोबेल पुरस्कार (2020)

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned