इंडोनेशिया: विवाहेत्तर संबंधों के चलते 11 को सजा, सरेआम बरसाए गए कोड़े

इंडोनेशिया: विवाहेत्तर संबंधों के चलते 11 को सजा, सरेआम बरसाए गए कोड़े

Shweta Singh | Updated: 02 Aug 2019, 06:34:30 PM (IST) एशिया

  • अचेह प्रांत में मस्जिद के बाहर पांच जोड़ों समेत 11 पर बरसाए गए कोड़े
  • बौद्ध धर्म के शख्स को भी शरिया कानून के अनुसार दी गई सजा

जकार्ता। इंडोनेशिया के अचेह प्रांत में विवाहेत्त संबंधों के लिए सार्वजनिक सजा दी गई है। गुरुवार को ऐसे मामलों के दोषी 11 लोगों को सार्वजनिक रूप से कोड़े लगाए गए। आपको बता दें कि अचेह दुनिया के सबसे बड़े मुस्लिम बहुल देश में एकमात्र शरिया कानून वाला प्रांत है।

पांच जोड़ो समेत 11 लोगों को सजा

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मामला सुमात्रा द्वीप के उत्तर पश्चिमी हिस्से से सामने आया। यहां प्रांतीय राजधानी बांदा अचेह की एक मस्जिद के बाहर इकट्ठा हुए लोगों के सामने आरोपियों को (इनमें पांच जोड़े भी शामिल थे) आठ से 33 कोड़े मारे गए। इन जोड़ों को विवाह से पहले संबंध बनाने के लिए कोड़े मारे गए। जबकि एक दूसरे व्यक्ति को 33 कोड़े मारने की सजा इसलिए दी गई क्योंकि उसने कम उम्र की लड़की के साथ संबंध बनाए थे।

इंडोनेशिया के बाली में 6.1 तीव्रता का भूकंप, मंदिर सहित कई घर तबाह

अचेह में इस्लामिक कानूनों का सख्ती से पालन

इस सार्वजनिक सजा को देखने के लिए काफी भीड़ इकट्ठा हुई थी। लोगों ने इस घटना की रिकॉर्डिग अपने मोबाइल फोनों में भी की। बता दें कि अचेह, इंडोनेशिया का इकलौता ऐसा प्रांत है, जहां इस्लामिक कानूनों का पालन सख्ती के साथ किया जाता है। हालांकि. मध्यकाल की पुरानी प्रथाओं का पालन करने के लिए वैश्विक मानव अधिकार समूहों द्वारा यहां के कानूनों की आलोचना भी की जाती है।

दुबई: भारतीय महिला ने AC के लिए किया हंगामा, एयरलाइंस ने फ्लाइट से उतारा

दूसरे धर्म के शख्स को भी शरिया कानून के अनुसार सजा

जानकारी के मुताबिक ग्यारह आरोपियों में से एक गैर-मुस्लिम, बौद्ध धर्म का मानने वाला था। बता दें कि इंडोनेशिया में 2014 में कानून में संशोधन हुआ था, जिसके मुताबिक दूसरे धर्म के व्यक्ति को शरिया कानून के अनुसार सजा से छूट रहेगी। लेकिन इस व्यक्ति के मामले में यह छूट नहीं दी गई।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitte पर...

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned