मालदीव की संसद में PAK की घोर बेइज्जती, भारत ने कश्मीर मुद्दा उठाने पर लगाई लताड़

  • मालदीव में हो रहे चौथे साउथ एशियन स्पीकर्स समिट में पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे को उठाया
  • भारतीय प्रतिनिधियों ने पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए कहा- आतंकवाद के समर्थक न दें मानवाधिकार का ज्ञान

By: Anil Kumar

Updated: 01 Sep 2019, 11:07 PM IST

माले। जम्मू-कश्मीर मामले पर पूरी दुनिया से करारी हार के बाद पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। कश्मीर मुद्दे को अतंर्राष्ट्रीयकरण करने की कोशिश कर रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को न तो कोई देश सुन रहा है और न ही उसे कोई भाव दे रहा है।

लिहाजा हार से बौखलाए पाकिस्तान अब ऐसी-ऐसी हरकतें करने पर उतर आया है, जो किसी भी देश के लिए शर्मनाक है। दरअसल, पाकिस्तान ने मालदीव में हो रहे चौथे साउथ एशियन स्पीकर्स समिट में कश्मीर मुद्दे को उठाया, लेकिन यहां पर भी उसे मुंह की खानी पड़ी।

कश्मीर मुद्दे पर दुनिया से हारकर अब जर्मनी की शरण में पहुंचा PAK, इमरान खान ने एंजेला मर्केल से की बात

भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने पाकिस्तानी अधिकारियों के इस नापाक हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया। राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने पाकिस्तान को आईना दिखाते हुए कहा कि जिस मुल्क ने बड़े पैमाने पर अपने ही लोगों का नरसंहार किया हो, उसे मानवाधिकार पर बोलने का नैतिक अधिकार ही नहीं है। उन्होंने पाकिस्तान को सीमापार आतंकवाद बंद करने की भी नसीहत दी।

पाकिस्तान की हरकत से मालदीव को आया गुस्सा

मालदीव की संसद में हो रही चर्चा के दौरान पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का ड्रामा चलता रहा। इसपर मालदीव के स्पीकर को गुस्सा आ गया और उन्होंने पाकिस्तानी अधिकारियों को फटकार लगा दी।

कार्यक्रम का संचालन कर रहे मालदीव की संसद के स्पीकर मोहम्मद नशीद ने पाक अधिकारियों को दो टूक कहते हुए कहा कि इस फोरम में किसी देश के आंतरिक मामले को नहीं उठाया जा सकता है।

ट्रंप ने इमरान खान को लगाई कड़ी फटकार, कहा-भारत पर तीखी बयानबाजी से बचें

बता दें कि मालदीव की संसद रविवार को सस्टेनेबल डेवेलपमेंट गोल पर चौथे साउथ एशियन स्पीकर्स समिट की मेजबानी कर रही थी। इस समिट में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए लोकसभा स्पीकर ओम बिरला और राज्यसभा उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह भी शामिल हुए थे, भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे थे, जबकि पाकिस्तान की ओर से नैशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम सुरी और पाकिस्तानी सेनेटर कुर्रतुल एन मारी शामिल थीं।

भारत ने पाकिस्तान को दिखाया आईना

पाकिस्तानी प्रतिनिधि कासिम सुरी ने स्पीकर से संबंधित मुद्दे के बजाए कश्मीर का राग छेड़ दिया। कासिम ने आरोप लगाया कि कश्मीर की जो स्थिति है, उसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। भारत वहां के लोगों पर अत्याचार कर रहा है।

इसपर उपसभापति हरिवंश ने कड़ी आपत्ति जताई और पलटवार करते हुए कहा कि भारत के आंतरिक मामले को इस फोरम में उठाए जाने पर हम पुरजोर आपत्ति जाहिर करते हैं। उन्होंने कहा कि इस समिट में विषय से इतर मुद्दों को उठाकर इसका राजनीतिकरण करने की कोशिश को भी हम खारिज करते हैं।

इमरान खान ने भारत पर कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन का लगाया आरोप, पीएम मोदी के फ्रांस दौरे पर किया कटाक्ष

उपसभापति हरिवंश ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को खूब लताड़ा। हरिवंश की बातें सुनकर एन मारी तिलमिला उठीं। सदस्यों का ध्यान भटकाने के लिए मारी भी भारत पर आरोप लगाने लगी कि कश्मीरियों पर अत्याचार किया जा रहा है और भारत कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन कर रहा है।

हालांकि भारतीय प्रतिनिधियों ने ऐसा जवाब दिया कि दोनों बौखलाहट के मारे सदन में जोर-जोर से चिखने-चिल्लाने लगे और उनके भाषण में बाधा पहुंचाने की कोशिश में जुट गए।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned