scriptEunuchs also claimed to become priests in Ayodhya, put forward these d | किन्नरों ने भी अयोध्या में पुजारी बनने का किया दावा, अपनी इन मांगों को रखा | Patrika News

किन्नरों ने भी अयोध्या में पुजारी बनने का किया दावा, अपनी इन मांगों को रखा

locationअयोध्याPublished: Nov 26, 2023 01:27:20 pm

Submitted by:

Markandey Pandey

किन्नरों ने भी अयोध्या में पुजारी बनने का किया दावा कहा श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट को चाहिए कि जो प्रमुख किन्नर है, उनको रामलाल के भव्य मंदिर के उद्घाटन का निमंत्रण पत्र भेजा जाए।

kinnar_1.jpg
जो प्रमुख किन्नर है, उनको रामलाल के भव्य मंदिर के उद्घाटन का निमंत्रण पत्र भेजा जाए।
Ayodhya News: अयोध्या किन्नर समाज की गुरु पिंकी मिश्रा ने देश की सुख समृद्धि व आरोग्य के लिए जागरण एवं विशाल भंडारे का आयोजन अपने निजी आवास कुचेरा बाजार में किया। कार्यक्रम में अयोध्या के जगतगुरु परमहंसाचार्य पहुंचे जहां किन्नरो ने उनकी पूजा अर्चना की।
कार्यक्रम के दौरान अयोध्या तपस्वी छावनी के पीठाधीश्वर जगतगुरु परमहंसाचार्य ने श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट सेवा से मांग किया है, कि किन्नरो को एक प्रतिनिधि के रूप में किन्नर समाज का पुजारी भी होना चाहिए, जैसे कि भगवान ने कहा है कि "चातुर्वर्ण्यं मया सृष्टं गुणकर्मविभागशः" चारों वर्णों की सृष्टि भगवान ने की है। और चारों भगवान से पैदा हुए हैं, चारों भाई हैं , इनको ऊच नीच की भावना से न देखा जाये। कर्म के अनुरूप विभाजित हुए हैं, इसी लिए चारों वर्णों के पुजारी भी होना चाहिए।
अयोध्या में रामलला के मंदिर का उद्घाटन आगामी 22 जनवरी के दिन अभिजीत मुहूर्त मृगशिरा नक्षत्र में 12:20 बजे सुनिश्चित कर दिया गया है। यह दुर्लभ मुहूर्त लगभग 5000 वर्ष के बाद पड़ रहा है। उसी दिन भगवान राम लला मंदिर में विराजमान होने जा रहे हैं, जो पूरे विश्व के लिए गौरव की बात है।
देश के प्रधानमंत्री, संघ प्रमुख मोहन भागवत समेत करीब 4500 सौ संत, महात्मा, धर्माचार्य उद्घाटन समारोह में आ रहे हैं। इतना ही नहीं जगतगुरु परमहंसाचार्य ने कहा श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट को चाहिए कि जो प्रमुख किन्नर है, उनको रामलाल के भव्य मंदिर के उद्घाटन का निमंत्रण पत्र भेजा जाए।
किन्नरों को भी राजनीति में मिले आरक्षण

जगतगुरु ने कहा कि हमने केंद्र सरकार और राज्य सरकारों से मांग किया है। कि किन्नरो को भी आरक्षण मिलना चाहिए। चाहे लोकसभा हो चाहे विधानसभा हो कुछ सीटे ऐसी आरक्षित कर दी जाए। जिसमें किन्नर समाज के ही लोग चुनाव लड़ सके। इससे यह होगा जब किन्नर भी मंत्री, विधायक व सांसद बनेंगे तो वे अपने समाज के बारे में ज्यादा जानेंगे और बेहतर सोच सकेंगे। किन्नर देवताओं की श्रेणी में है किन्नर के ही आशीर्वाद से रामराज्य की परिकल्पना साकार हो सकती है।
इस मौके पर किन्नर समाज के महामंडलेश्वर गोरखपुर बरखा मां, तथा दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री उत्तर प्रदेश मधु उर्फ काजल किन्नर, जिला पंचायत सदस्य चांदनी किन्नर के अलावा कई जिलों के किन्नर समाज के साथ अन्य लोग मौजूद रहे।

ट्रेंडिंग वीडियो