यूपी में गैंगरेप पीड़ित छात्रा का स्कूल से नाम काटा, प्रिंसिपल बोले विद्यालय का नाम खराब होगा

यूपी में गैंगरेप पीड़ित छात्रा का स्कूल से नाम काटा, प्रिंसिपल बोले विद्यालय का नाम खराब होगा
रेप

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Sep, 23 2019 01:31:25 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

दरअसल छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना होने के बाद जब इसकी सूचना छात्रा के स्कूल कृषक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बेलहरी को हुई तो प्रधानाचार्य ने उसका नाम ही काट दिया।

आजमगढ़. यूपी के आजमगढ़ से हैरान कर देने वाली खबर आयी है। तीन दिन पहले पहले हुए गैंगरेप की पीड़ित छात्रा अभी इस सदमे से उबर भी नहीं पायी थी अपने खिलाफ लिये गए एक अन्य अमानवीय फैसले ने उसे भीतर तक तोड़ दिया है। इस फैसले से उसके परिजन भी हैरान हैं।

दरअसल छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना होने के बाद जब इसकी सूचना छात्रा के स्कूल कृषक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बेलहरी को हुई तो प्रधानाचार्य ने उसका नाम ही काट दिया। मीडिया को दिये गए अपने बयान में प्रधानाचार्य/प्रबंधक का इसके पीछे तर्क है कि इससे स्कूल की दूसरी छात्राओं पर बुरा असर पड़ेगा। उन्हें लगता है कि इस घटना से उनके स्कूल की छवि पर भी नकारात्मक असर पड़ेगा। उनके अनुसार नाम काटने की जानकारी पीड़ित छात्रा के परिजनों को दे दी गयी है।

ये है पूरा मामला

आजमगढ़ के सरायमीर थानान्तर्गत एक गांव की रहने वाली कक्षा 11 की छात्रा घर से स्कूल जाने के लिये निकली ही थी कि बोलेरो सवार दो युवकों ने सुनसान रास्ता देख उसे उठा लिया और मुंह में कपड़ा ठूंसकर सुनसान जगह ले गए। गाड़ी रोककर तमंचे के बल पर दोनों ने उसके साथ बारी-बारी से रेप किया और बेलहरी इमाम अली गांव स्थित पोखरी के पास छोड़कर फरार हो गए। छात्रा घंटों वहीं पड़ी रही और किसी तरह घर पहुंची। पुलिस ने इस मामले में नामजद मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी।

बताया जा रहा है कि मामला उजागर होने के बाद शुक्रवार को स्कूल के प्रधानाचार्य ने छात्रा का नाम काट दिया। हालांकि उन्हें नाम काटे जाने की सूचना नहीं मिली है। विद्यालय ने अगर ऐसा किया है तो यह ठीक नहीं। अपने साथ हुई हैवानियत से वह पहले से ही तनाव और सदमे में है। ऐसे में इस तरह का फैसला उसे और अंदर तक तोड़ देगा। शिक्षा विभाग मामले की जांच कराने की बात कह रहा है।

By Ran Vijay Singh

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned