बड़ा फैसलाः मुसहर व बहेलिया परिवारों को अब सरकार की इस योजना का मिलेगा लाभ, सभी के खिले चेहरे

- अभी 01 लाख 15 हजार 81 परिवारों को मिल रहा है योजना का लाभ
- 2925 मरीज विभिन्न अस्पतालों में कारा चुके हैं उपचार

By: Abhishek Gupta

Updated: 13 May 2020, 08:53 PM IST

आजमगढ़. आजादी के सात दशक तक उपेक्षा के शिकार रहे अछूत समझे जाने वाले बहेलिया व मुसहर समाज के लोगों को घर के बाद अब सरकार आयुष्मान योजना का भी लाभ देगी। सरकार के इस फैसले से लाखों लोग लाभान्वित होंगे। हालांकि लाभ उन्हीं को मिलेगा, जिनका नाम वर्ष 2011 की सेक सूची में दर्ज है। आयुष्मान योजना का लाभ जिले के 1,15,081 परिवारों को मिल रहा है। मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत 26 हजार 468 परिवारों को कार्ड जारी किया गया है। अब तक 79.81 फीसद लोग ही गोल्डन कार्ड बनवा सकें हैं। लाभार्थी परिवारों में से अब तक 1,12,968 व्यक्तियों का गोल्डन कार्ड बन सका है। अब बहेलिया और मुसहर परिवारों का नाम जुड़ने के बाद यह संख्या और बढ़ जाएगी।

ये भी पढ़ें- घर वापसी कर रहे प्रवासी कामगारों के लिए यह करना होगा अनिवार्य, वरना बढ़ेगी परेशानी

इस योजना का लाभ देने के लिए जिले में 17 निजी, 24 सरकारी अस्पताल एवं एक राजकीय मेडिकल कालेज को सूचीबद्ध किया गया है। इन अस्पतालों में आयुष्मान गोल्डन कार्ड धारक मरीज पांच लाख तक निःशुल्क इलाज करा सकता है। आयुष्मान के मरीजों का सही इलाज न करने पर दो अस्पतालों को सूची से बाहर भी कर दिया गया है। आयुष्मान भारत के तहत अब तक 2,925 लोग अपना उपचार करा चुके हैं। इसमें 2060 लोग निजी अस्पताल एवं 865 लोग सरकारी अस्पतालों में अपना उपचार करा चुके हैं। 2,231 मरीजों के इलाज का खर्च सरकार द्वारा उठाया जा चुका है, बाकि का भुगतान अभी प्रक्रिया में है। आयुष्मान भारत के नोडल अधिकारी डा. वाईके राय का कहना है कि बहेलिया व मुसहर समाज को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ने की प्रक्रिया जारी है। कोविड-19 के चलते प्रगति धीमी है। विभाग डेटा तैयार करके वेबसाइट पर अपलोड किया जा रहा है। जल्द ही सभी का डाटा तैयार कर गोल्डेन कार्ड जारी किया जाएगा।

ये भी पढ़ें- लखनऊ में 20 दिन बाद एक साथ मिले 14 नए कोरोना पॉजिटिव केस, कैसरबाग सब्जी मंडी में सर्वाधिक

Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned