शाम ढलते ही गांव में पसर रहा सन्नाटा

बाघ की चहलकदमी से ग्रामीणों में दहशत का माहौल

बालाघाट. वन परिक्षेत्र वारासिवनी के अंतर्गत ग्राम पंचायत नांदगांव के आस-पास के जंगलों में घूम रहे बाघ के द्वारा किए जा रहे मवेशियों के शिकार से क्षेत्र के लोगों में दहशत व्याप्त है। गुरुवार दोपहर लगभग 1.30 बजे ग्राम नांदगांव बीजाटोला निवासी देवसिंह पारधी और झगडू नंदरधने की जंगल चरने गई गाय पर बाघ ने हमला कर दिया। इस हमले में मवेशी के रम्भाने और बाघ के दहाडऩे की आवाज सुनकर शेष मवेशी अपनी जान बचाकर जंगल से गांव की ओर भागकर आए। ऐसी ही घटना 4 दिन पहले नांदगांव निवासी बस्तीराम पारधी के गाय के साथ हुई थी। बाघ के रोज आतंक से नांदगांव सहित पड़ोस के गांव में शाम होते ही सन्नाटा छा जाता है। गांव के लोगों में दहशत बनी हुई है। हाल ही में 4 दिन पूर्व में नांदगांव निवासी के दुधारू मवेशी को बाघ ने मार डाला था। बावजूद इसके वनविभाग बाघ को पकडऩे के लिए कोई सार्थक प्रयास नहीं कर रहा है।
इस मामले में डिप्टी रेंजर राजेंद्र उइके का कहना है कि वनपरिक्षेत्र अधिकारी के मार्गदर्शन में सिरपुर वृत के परिक्षेत्र सहायक राजेंद्र उइके के साथ रात्रि कालीन गस्ती अपने अधीनस्थ स्टाप और ग्रामीणों के सहयोग से की जा रही है। ग्रामीणों से अपील की गई है कि चारागाह से अपने मवेशी को शाम होने से पूर्व ही ला लें। वहीं जंगल की ओर अकेले न जाने, वन्य प्राणी दिखने पर इसकी सूचना तत्काल वन विभाग के अधिकारियों को दिए जाने का आव्हान किया गया है।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned