scriptअप्रैल में भीषण गर्मी नहीं बारिश व बदली हो रही, सुबह हुई रिमझिम बारिश | There is no scorching heat in April but it is raining and cloudy | Patrika News
बालोद

अप्रैल में भीषण गर्मी नहीं बारिश व बदली हो रही, सुबह हुई रिमझिम बारिश

अप्रैल के महीने में गर्मी के साथ लू का असर देखने को मिलता है। इस बार अप्रैल में पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश हो रही है और नमी से ठंडी हवा चल रही है।

बालोदApr 12, 2024 / 11:17 pm

Chandra Kishor Deshmukh

पश्चिमी विक्षोभ का असर

अप्रैल में भीषण गर्मी नहीं बारिश व बदली हो रही, सुबह हुई रिमझिम बारिश

drizzling rain अप्रैल के महीने में गर्मी के साथ लू का असर देखने को मिलता है। इस बार अप्रैल में पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश हो रही है और नमी से ठंडी हवा चल रही है। जिले में सोमवार से मौसम में बदलाव हुआ है, जो अभी तक जारी है। शुक्रवार को मौसम खुलने की उम्मीद थी लेकिन बारिश फिर बदली छाई रही। मौसम विभाग ने जिले में औसत 4 मिमी बारिश दर्ज की है।

बारिश से बचने रेनकोट और छाते का सहारा

शुक्रवार को भी जिले में सुबह हल्की बारिश हुई। लोगों ने बारिश से बचने रेनकोट, छाता का सहारा लिया। हालांकि 12 बजे के बाद से रिमझिम बारिश थम गई। जिसके बाद मौसम खुशनुमा हो गया।

तापमान में गिरावट, नमी से ठंड का अहसास

शुक्रवार को मौसम विभाग ने अधिकतम तापमान 31 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 22 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक अप्रैल के 12 दिन में 6 दिन बारिश व बदली का रहा। 6 दिन धूप खिली रही, जिसमें 3 दिन तापमान 40 डिग्री पार रहा। वहीं 3 दिन तापमान 35 से 39 डिग्री के बीच रहा।

कब कितनी हुई बारिश

8 अप्रैल -13.6 मिमी
9अप्रैल -9.6 मिमी
11अप्रैल -17.6 मिमी
12 अप्रैल – 4 मिमी

शनिवार से मौसम खुलने के आसार

शनिवार से मौसम खुल सकता है। हालांकि इस दिन भी बदली छाए रहने के आसार हैं। कुछ जगहों पर हल्की बारिश भी हो सकती है। पूर्वानुमान के मुताबिक इस दिन अधिकतम तापमान 33 डिग्री व न्यूनतम तापमान 22 डिग्री रहने का अनुमान है।
मौसम परिवर्तन


बारिश व बदली से लोग हो रहे बीमार, अस्पताल में बेड फुल

weather change लगभग 6 दिन से मौसम में आए बदलाव, बारिश व बदली का असर लोगों के स्वास्थ्य पर भी पडऩे लगा है। मरीजों से जिला अस्पताल का बेड भी लगभग फुल हो गया है। जिला अस्पताल में इन दिनों सबसे ज्यादा केस सर्दी, खांसी, बुखार के आ रहे हैं। बच्चा वार्ड से लेकर सभी सामान्य वार्ड मरीजों से लगभग फुल हो गए हैं।

ठंडे पेय पदार्थों का न करें उपयोग

खराब मौसम से लोग बीमार हो रहे हैं। जिला अस्पताल हो चाहे अन्य शासकीय व निजी अस्पताल। सभी की ओपीडी में भीड़ देखी जा सकती है। जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. आर के श्रीमाली ने कहा इस बदलते मौसम में लोग अपने स्वास्थ का ध्यान रखे खासकर छोटे बच्चे व बुजुर्गों का। मौसम में अभी ठंड है, ऐसे में ठंडे पेय पदार्थों का सेवन न करें।

गरम भोजन दें, गुनगुने पानी का सेवन करें

उन्होंने कहा कि मौसम को देखते हुए गरम भोजन करें। बासी भोजन से परहेज करें। उबले व गुनगुने पानी का भी सेवन कर सकते है। तकलीफ हो तो तत्काल चिकित्सकों की सलाह लें। पानी सर्दी, खांसी, बुखार ठीक नहीं हो रहा हो तो तत्काल चिकित्सकों के पास जाएं। इलाज कराएं। कई बार जरा-सी लापरवाही से स्थिति और बिगड़ सकती है।

Hindi News/ Balod / अप्रैल में भीषण गर्मी नहीं बारिश व बदली हो रही, सुबह हुई रिमझिम बारिश

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो