बांसवाड़ा : भूमि विवाद में भतीजे ने दोस्त के साथ मिलकर चाचा को उतार दिया मौत के घाट

Banswara Crime News, Murder In Rajasthan : आरोपी भतीजा और उसका मित्र गिरफ्तार, कालानाला में 5 दिन पूर्व हुई थी वारदात

By: Varun Bhatt

Updated: 28 Oct 2020, 05:14 PM IST

बांसवाड़ा. आंबापुरा थाना क्षेत्र के कालानाला गांव में गत 22 अक्टूबर की रात्रि एक व्यक्ति की हत्या के मामले का पुलिस ने राजफाश कर दिया है। पुलिस ने मामले में मृतक के भतीजे और उसके एक मित्र को मंगलवार को गिरफ्तार किया। आरंभिक पूछताछ में भूमि विवाद के कारण हत्या करना सामने आया है। पुलिस अधीक्षक कावेंद्रसिंह सागर ने बताया कि गत 22 अक्टूबर को कालानाला गांव में एक व्यक्ति की हत्या करने की सूचना मिली। आंबापुरा थानाधिकारी किरेंद्र सिंह मय जाब्ते मौके पर पहुंचे। मौके पर नानिया (46) पुत्र वेस्ता मईड़ा की घर के बाहर खाट पर लाश पड़ी थी। सूचना पर पुलिस अधीक्षक सागर सहित अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण मीणा, देवाराम चौधरी, उपाधीक्षक राजऋ षि राज वर्मा आदि ने मुआयना किया। मृतक नानिया पुत्र वेस्ता मईड़ा की पत्नी शंभू ने बताया कि बीती रात वह अपनी पुत्री पिंका, पुत्र मनीष व सास थावरी के साथ घर के भीतर सोई थी। पति नानिया घर के गेट के बाहर खाट पर सोया। सुबह करीब 6 बजे पुत्र मनीष जागा और घर से बाहर निकला तो उसने पिता को खाट पर ही सोया पाया। उसने कंबल हटा कर देखा तो नानिया के सिर पर चोट के निशान थे। काफी खून बह चुका था। अज्ञात व्यक्ति ने नानिया पर धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी थी। रिपोर्ट पर आंबापुरा थाना पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर विशेष टीम बनाकर अनुसंधान शुरू किया। इसमें साइबर सेल प्रभारी प्रवीणसिंह की मदद से संदिग्ध लोगों की कॉल डिटेल निकलवाकर विश्लेषण किया। इसके बाद पुलिस ने संदिग्धों को बुलाकर पूछताछ की। इस दौरान सुनील पिता गांगा मईड़ा निवासी कालानाला हाल बड़वी और रितेश उर्फ कालू पुत्र किशन चरपोटा निवासी बड़वी से गहनता से पूछताछ की तो उन्होंने नानिया की हत्या करना स्वीकार किया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें पुलिस रिमांड पर सौंपा है।


यह रहा कारण
थानाधिकारी किरेन्द्रसिंह के अनुसार पूछताछ में वारदात का कारण भूमि विवाद सामने आया। सुनील ने अपने दोस्त रितेश से कहा कि उसका चाचा नानिया जमीन की बात को लेकर झगड़ा करता है और गांव में रहने नहीं देता है। गांव जाने पर झगड़ा और मारपीट कर भगा देता है। इस पर दोनों ने मिलकर योजना बनाई। दोनों 21 अक्टूबर की रात्रि को मोटरसाइकिल से कालानाला पहुंचे। घर के बाहर सो रहे नानिया के सिर पर सब्ब्ल से 5 से 6 वार किए, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।


जवानी की दहलीज पर सने खून से हाथ
भूमि विवाद की इस घटना ने जवानी की दहलीज पर चढ़ रहे दो युवाओं के हाथ खून से रंग दिए हैं। आरोपी सुनील और रितेश की उम्र मात्र 20-20 वर्ष है। पारिवारिक भूमि विवाद का निपटारा आपसी समझाइश से भी हो सकता था, किंतु अपने चाचा को रास्ते से हटाने के लिए सुनील ने साथी रितेश का भविष्य भी दावं पर लगा दिया।

Show More
Varun Bhatt
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned