scriptPrices Of Seasonal Vegetables Increased, Peas Rs 100 Per KG | मटर अभी भी सब्जी से दूर, दाम 100 रुपए किलो | Patrika News

मटर अभी भी सब्जी से दूर, दाम 100 रुपए किलो

locationबांसवाड़ाPublished: Nov 18, 2023 12:29:21 pm

Submitted by:

Nupur Sharma

मटर के चढ़ते भाव ने अभी तक सब्जी से दूरी बना रखी है। हालांकि बीते दो से तीन दिनों में मटर के भाव 20 रु प्रति किलो तक गिरे जरूर हैं।

pea.jpg

Vegetable Price : मटर के चढ़ते भाव ने अभी तक सब्जी से दूरी बना रखी है। हालांकि बीते दो से तीन दिनों में मटर के भाव 20 रु प्रति किलो तक गिरे जरूर हैं। लेकिन अभी भी फुटकर में 100 रुपए प्रतिकिलो के भाव से बिकने वाली मटर ने आमजन की पहुंच से दूरी बना रखी है। व्यापारी बताते हैं कि रतलाम की सैलाना बस स्टैंड सब्जी मंडी में इन दिनों मटर की आवक में वृद्धि देखी जा रही है, पिछले सप्ताह की तुलना में आवक दोगुनी हुई है। जो अब तीन हजार कट्टे तक पहुंच चुकी है। आवक के साथ अच्छी मटर 50-60 रुपए किलो तो हल्की 35-40 रुपए प्रति किलो भाव नीलामी में खरीदी गई। जबकि पिछले सप्ताह 100 रुपए प्रति किलो से अधिक भाव में मटर नीलाम हुई थी।

यह भी पढ़ें

राजस्थान विधानसभा चुनाव: कन्हैया का दावा, राजस्थान में इस बार बदलेगा रिवाज

इसलिए भाव में आई कमी
रतलाम मंडी के थोक व्यापारी बालाराम धाकड़ ने बताया कि इस वर्ष अभी जो मटर आ रही है, उसमें किसानों को उत्पादन नहीं मिला, बारिश से फसल प्रभावित हो गई थी। गोल्डन मटर आने में 20 दिन और लगेंगे, वैसे मटर की शुरुआत हो चुकी है। पिछले मंगलवार मुहूर्त किया था शुुरुआत में 111 रुपए प्रति किलो के भाव तक मटर खरीदी गई। आगामी दिनों में और भी गिरेंगे भाव स्थानीय मंडी के थोक व्यापारी गोविंद लाल बताते हैं कि अभी तक बांसवाड़ा थोक मंडी में मटर 100 रुपए के भाव से बिक रहा था। जो शुक्रवार को 70 से 80 रुपए प्रति किलो के भाव से बिका। आने वाले दिनों में भाव अभी और भी कम होंगे।

(फुटकर बाजार से प्राप्त जानकारी के अनुसार)

सब्जी भाव
मटर 100
टमाटर 60
फूलगोभी 40
शिमला 50-60
अदरक 150-160
हरी मिर्च 40
गाजर 50-60
चना साग 80
बैंगन 15-20
मेथी 20
मूली 20
पालक 20
तरोई 40

यह भी पढ़ें

राजस्थान चुनाव 2023: भाजपा कर रही हिन्दू इलाकों में ज्यादा मतदान की रणनीति पर फोकस




सब्जियों के भाव तेज
इन दिनों देखने में आ रहा है कि मौसमी सब्जियों के भाव भी तेज हैं। जानकार बताते हैं कि बीते महीनों में हुई बारिश का असर सब्जियों की फसल पर पड़ा है। इसलिए अभी तक आवक कम हैं। आवक बढऩे पर सब्जी के भाव में तेजी आएगी।

ट्रेंडिंग वीडियो