Dispute - कपास रिजेक्ट होने से नाराज किसान ने सीसीआइ अधिकारी से की मारपीट

माफी मांगने के बाद मामले का पटाक्षेप

By: tarunendra chauhan

Published: 20 Nov 2020, 01:56 PM IST

बड़वानी . दीपावली अवकाश के बाद गुरुवार को प्रारंभ हुई कपास खरीदी विवाद के बाद मारपीट में बदल गई। अंजड़ मंडी में सीसीआइ अधिकारी शरद मस्के, पार्षद तथा व्यापारी कुलदीप पाटीदार सहित मंडी कर्मचारियों के साथ मारपीट एवं झूमाझटकी की घटना कपास बेचने आए लोगों द्वारा की गई।

गुरुवार दोपहर को सभी कपास व्यापारियों के साथ सीसीआइ अधिकारी नीलामी प्रक्रिया के तहत कपास खरीदी कर रहे थे, तभी माल रिजेक्ट होने से मनीष पिता तेजकुमार निवासी तलून का सीसीआइ अधिकारी से विवाद हो गया। विवाद बढऩे पर मनीष तथा अन्य लोगों ने सीसीआइ अधिकारी शरद मस्के के साथ झूमाझटकी करते हुए अपशब्दों का प्रयोग किया गया। बीचबचाव करने आए कुलदीप पाटीदार के साथ भी धक्का-मुक्की हुई। जिसमें कुलदीप को कान के पास चोट लग गई। घटना के बाद व्यापारियों के समूह, मंडी सचिव एचएस जमरा तथा कर्मचारियों के साथ सीसीआइ अधिकारी पुलिस थाने पर पहुंचे। यहां गहमागहमी के बीच पुलिस ने घटना के वायरल वीडियो के आधार पर झूमाझटकी करने वाले को थाने लेकर आए। बातचीत के दौरान किसान द्वारा माफी मांगने के बाद सीसीआइ अधिकारी ने एफआइआर दर्ज न कराते हुए मामले का पटाक्षेप कर दिया। पूरे घटनाक्रम के समय थाना परिसर में खासी भीड़ एकत्रित हो गई थी।

अफसर ने नहीं कराई एफआइआर
इधर मामले की गंभीरता को लेकर मंडी सचिव एचएस जमरा ने तहसीलदार भागीरथ वांखला से मुलाकात कर सुरक्षा की मांग करते हुए सुरक्षा मिलने पर ही मंडी प्रारंभ करने की बात कही। तहसीलदार वांखला ने एसडीएम एवं कलेक्टर को घटना से लिखित रूप से अवगत कराने का बोलते हुए स्वयं भी चर्चा करने की बात की। गौरतलब है कि सीसीआइ का अंजड़ केंद्र प्रारंभ होने के साथ ही विवादों से घिर गया था। कई बार किसानों ने सीसीआइ पर खरीदी में भेदभाव का आरोप लगाया तथा मंडी गेट बंद कर चक्काजाम भी किया था। आरोप प्रत्यारोपों के बीच सांसद गजेंद्र पटेल ने भी अंजड मंडी पहुंचकर किसानों तथा सीसीआइ अधिकारी के साथ चर्चा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए थे।

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned