वैलेंटाइन डे पर की लव मैरिज, फिर सुपारी देकर करा दी पत्नी की हत्या, ऐसे पकड़ा गया आरोपी फौजी

पुलिस ने आरोपी सेना के जवान और उसके पिता सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का किया खुलासा

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

भदोही. सेना के जवान ने पहले एक युवती से वेलेंटाइन डे पर अंतरजातीय प्रेम विवाह किया फिर उसकी भाड़े के दो अपराधियों के साथ मिलकर हत्या कर दी। पुलिस ने इस पुरे मामले में आरोपी सेना के जवान और उसके पिता सहित चार लोगों को गिरफ्तार करते हुए पूरे मामले का खुलासा कर दिया है। आरोपियों ने बीते शनिवार को युवती की हत्या कर उसके शव को भदोही जिले में ठिकाने लगाया था। आरोपी सेना का जवान वाराणसी के रहने वाला है।


दरअसल यह पूरा मामला बीते शनिवार है, जब कोइरौना थाना क्षेत्र के दरवांसी गांव के सरसो के खेत मे एक 24 वर्षीय युवती का शव मिलने से सनसनी फैल गयी थी। युवती का रस्सी से गला दबाकर हत्या किया गया था और उसके हाथ पर धर्मेंद्र नाम का टैटू बना हुआ था। पुलिस ने जब पूरे मामले की जांच शुरू की तो मृतक युवती की पहचान वाराणसी निवासी सुमन के रूप में हुई। जांच आगे बढ़ी तो पुलिस के सामने चौकाने वाली जानकारी सामने आयी और पूरे मामले का खुलासा हो गया कि मृतका के पति ने ही उसकी भाड़े के अपराधियों के साथ मिलकर हत्या की।


पुलिस ने बताया कि कानपुर आर्मी में लांस नायक के पद पर तैनात वाराणसी के लोहता निवासी धर्मेंद्र ने सुमन से अंतरजातीय प्रेम विवाह वैलेंटाइन डे के दिन 14 फरवरी 2020 को किया था। यह शादी धर्मेंद्र के परिवार वालों को स्वीकार नही थी। धर्मेंद्र के पिता लगातार उसपर तलाक देने का दबाव बना रहे थे, लेकिन जब सुमन राजी नहीं हुई तो धर्मेंद्र के पिता ने सुमन की हत्या की एक खौफनाक शाजिश रच डाली और भाड़े के दो बदमाशों को पचास हजार रुपये में हत्या करने की सुपारी दे दी। प्लान के तहत धर्मेंद्र अपनी पत्नी को अपने साथ कानपुर चलकर वहीं रहने की बात कहते हुए वाराणसी से अपनी कार से कानपुर के लिए रवाना हो गया। रास्ते में एक दूसरे वाहन से भाड़े के दोनों बदमाश भी पीछे लग गए।


धर्मेंद्र जब प्रयागराज की तरफ जाने लगा तभी सुनसान सड़क पर पत्नी से पेट दर्द का बहाना बनाकर शौच के लिए चला और जब काफी देर तक वापस नहीं लौटा तो डर रही सुमन ने अपने एक जानने वाले को फोन कर दिया, बात अभी चल ही रही थी तभी भाड़े के दोनों बदमाश रस्सी से सुमन का गला दबाने लगे। इसी दौरान वहां धर्मेंद्र भी आ गया और उसने सुमन के दोनों हाथ पकड़ लिए। जब सुमन की मौत हो गयी तब कर से उसकी लाश निकाल कर दूसरे वाहन में रखा गया और भाड़े के दोनों बदमाशों ने उसके शव को भदोही जिले के दरवांसी में सुनसान इलाके के खेत में फेंक दिया।


उधर आरोपी पति पुलिस के पास भी सूचना लेकर गया था कि उसकी पत्नी गायब हो गयी है। एसपी राम बदन सिंह ने बताया कि पुलिस ने इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए आरोपी सेना के जवान, उसके पिता रिटायर्ड सुबेदार उमाशंकर राम, भाड़े के दो बदमाश नियाज और रसीद को दोनो वाहन सहित गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

By Mahesh Jaiswal

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned